जदयू जिलाध्यक्षों की बैठक रविवार को, परसों से राजनीतिक अभियान

जदयू जिलाध्यक्षों की बैठक रविवार को, परसों से राजनीतिक अभियान

जदयू जिलाध्यक्षों और जिला प्रभारियों की बैठक कल रविवार को पटना में होगी। परसों से पार्टी का राज्यव्यापी राजनीतिक अभियान शुरू होगा। सदस्यता अभियान भी।

जदयू के कई बड़े नेता लगातार कह रहे हैं कि भाजपा राज्य में सामाजिक सौहार्द खराब करने की कोशिश कर सकती है। सजग रहें। अब आज जदयू कार्यालय से जानकारी मिली की कल रविवार को पटना में सभी जिलाध्यक्षों तथा जिला प्रभारियों की बैठक होगी। कल ही शाम को सभी प्रकोष्ठों के अध्यक्षों की भी बैठक इसमें राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह भी मौजूद रहेंगे। आज उन्होंने मधुबनी में अतिपिढ़े समुदाय की एक बड़ी सभा को संबोधित किया।

रविवार को जिला अध्यक्षों तथा प्रभारियों की बैठक में भाजपा के प्रयासों का जवाब देने के साथ ही राज्य में सदस्यता अभियान पर जोर देने के लिए टास्क दिया जाएगा। नौकरशाही डॉट कॉम को जदयू के कई नेताओं ने बताया कि वे बैठक के दूसरे दिन ही सोमवार को जिलों के लिए निकल जाएंगे। सोमवार को कई जिलों में बैठक की सूचना भी दे दी गई है। जदयू नेताओं ने कहा कि पार्टी अब भाजपा को कोई मौका नहीं देना चाहती।

जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने आज मधुबनी के फुलपरास में अमर शहीद रामफल मंडल विचार मंच के कार्यक्रम को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि भाजपा राज्य में महिलाओं तथा अतिपिछड़ों के सशक्तीकरण से परेशान है। नीतीश कुमार ने इन दोनों तबकों को ताकत दी, लेकिन भाजपा नीतीश कुमार को ही कमजोर करने की साजिश कर रही है। आजादी के आंदोलन का एक बड़ा ध्येय न्याय के साथ विकास था, जिसे नीतीश कुमार ने अपनाया।

कल होनेवाली बैठक में सदस्यता अभियान पर भी जोर दिया जाएगा। पार्टी की कोशिश है कि हर बूथ पर संगठन को मजबूत किया जाए। जदयू के सदस्यता अभियान को 2024 के लोकसभा चुनाव से भी जोड़ कर देखा जा रहा है। ललन सिंह कह चुके हैं कि बिहार, बंगाल और झाऱखंड ये तीन राज्य ही भाजपा को बहुमत के आंकड़े से नीचे ले जाएंगे।

प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा ने कहा कि भाजपा देश में बढ़ते जनाक्रोश और देश के सर्वाधिक अनुभवी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के प्रयासों से डर गयी है।

किसका असर? दो दिनों में कम हो सकती है पेट्रोल-गैस की कीमत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*