JDU ने किया पहली बार ईसाई मिलन समारोह, सैकड़ों ने ली सदस्यता

JDU ने किया पहली बार ईसाई मिलन समारोह, सैकड़ों ने ली सदस्यता

JDU ने किया पहली बार ईसाई मिलन समारोह, सैकड़ों ने ली सदस्यता। उधर दिल्ली में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पार्टी के सभी सांसदों के साथ की मीटिंग।

पटना स्थित जदयू कार्यालय में पहली बार बुधवार को ईसाई मिलन समारोह आयोजित किया गया। इसमें सैकड़ों की संख्या में ईसाई समाज के प्रतिनिधियों ने जदयू की सदस्यता ली। उधर दिल्ली में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पार्टी के सभी सांसदों से मुलाकात की और 2024 लोकसभा चुनाव की तैयारियों का फीडबैक लिया।

जदयू दफ्तर में बुधवार को प्रदेश अध्यक्ष उमेश सिंह कुशवाहा, अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री जमा खां एवं विधानपार्षद ललन कुमार सर्राफ की उपस्थिति में ईसाई समुदाय के लोगो ने जदयू का दामन थामा। पार्टी की सदस्यता ग्रहण करने वालों में मुख्य रूप से मनोज कुमार, रेणु राजी, अभिषेक पाॅल, राजी जेम्स, विजय डेविड विलयम्स, एन्ड विलियम, अपिल जियतु थे। कार्यक्रम में विधान परिषद सदस्य संजय कुमार सिंह ‘‘गांधी जी’’, कुलवंत सिंह, एजाज अहमद, मो. इम्तियाज, कुमार गौतम सुधांशु उपस्थित रहे। कार्यक्रम की अध्यक्षता अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष डाॅ. अशरफ हुसैन एवं मंच का संचालन मोहन पाॅल ने किया।

प्रदेश अध्यक्ष उमेश सिंह कुशवाहा ने कहा कि आज का मिलन समारोह बेहद ही खास है क्योंकि आज ईसाई समाज के लोग जदयू परिवार का हिस्सा बन रहे हैं। इससे हमारे नेता नीतीश कुमार के सर्व धर्म समभाव के मूलमंत्र को बल मिलेगा। कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सबका साथ सबका विकास का नारा दिया था लेकिन जब अल्पसंख्यक भाइयों पर अत्याचार होता है तो प्रधानमंत्री चुप्पी साध लेते हैं। 2024 में हमें ऐसे लोगों से सतर्क रहने की आवश्यकता है और उनके भ्रामक दुष्प्रचार से भी जनता को आगाह करना है।

अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री जमा खां ने कहा कि नीतीश कुमार के नेतृत्व में राज्य की सरकार अल्पसंख्यक समाज के उत्थान और कल्याण के लिए निरंतर कार्य कर रही है। प्रदेश में कई जगहों पर ईसाई समुदायों के लिए आवासीय विद्यालय का निर्माण कराने का निर्णय लिया गया है। बिहार सरकार द्वारा मदर टेरेसा और सरोजिनी नायडू के नाम से बालिका छात्रवास संचालित किया जा है।

राष्ट्रपति शासन की मांग करनेवाले पहले PM से मांगे इस्तीफा : शहजाद