खड़गे बने इंडिया गठबंधन के चेयरपर्सन, नीतीश ने रखी शर्त

खड़गे बने इंडिया गठबंधन के चेयरपर्सन, नीतीश ने रखी शर्त

खड़गे बने इंडिया गठबंधन के चेयरपर्सन, नीतीश ने रखी शर्त। ममता बनर्जी और केजरीवाल के सुझाव पर दलित फेस किया आगे। नीतीश ने दिखाई उदारता।

इंडिया गठबंधन की शनिवार को हुई ऑनलाइन मीटिंग में कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे को गठबंधन का चेयरपर्सन बनाने पर सहमति हो गई। पिछली बैठक में बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और दिल्ली के मुख्यमंत्री इंडिया गठबंधन का फेस खड़गे को बनाने की सिफारिश की थी। दलित फेस को सामने लाकर इंडिया गठबंधन ने बड़ा दांव चल दिया है। उधर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने फिलहाल संयोजक पद अस्वीकार कर दिया है। उन्होंने उदारता दिखाते हुए कहा कि जब उनके नाम पर सर्वसम्मति बन जाएगी, तभी वे संयोजक का पद स्वीकार करेंगे।

विपक्षी गठबंधन की यह बैठक और चेयरपर्सन का चुनाव राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा के ठीक एक दिन पहले हुआ। माना जा रहा था कि न्याय यात्रा से पहले इंडिया गठबंधन कोई बड़ा फैसला लेगा, ताकि विपक्ष की एकता दिखाई जा सके। कल 14 जनवरी को मल्लिकार्जुन खड़गे मणिपुर में न्याय यात्रा को हरी झंडी दिखाएंगे। उनके चेयरपर्सन बनने से न्याय यात्रा में विपक्षी दलों के शिरकत करने की संभावना बढ़ गई है।

गठबंधन की वर्चुअल मीटिंग में 14 दलों के प्रमुख नेता शामिल हुए। ममता बनर्जी, अखिलेश यादव बैठक में शामिल नहीं हुए। मल्लिकार्जुन खड़गे के चेयरपर्सन का औपचारिक एलान दोनों नेताओं से बातचीत के बाद किया जाएगा। जदयू की तरफ से इस मीटिंग में मुख्यमंत्री और पार्टी अध्यक्ष नीतीश कुमार, पूर्व अध्यक्ष ललन सिंह तथा मंत्री संजय झा शामिल हुए। बैठक के बाद जदयू से मिली जानकारी के अनुसार नीतीश कुमार ने संयोजक पद अस्वीकार करते हुए कहा कि सबसे बड़ा काम सीटों के बंटवारे पर सहमति बनाना है। याद रहे ममता बनर्जी कह चुकी हैं कि बंगाल में भाजपा से मुकाबला टीएमसी करेगी। इंडिया गठबंधन बंगाल से बाहर होगा। वहां कांद्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी भी ममता बनर्जी के खिलाफ मुखर रहे हैं।

हमारी सरकार ने शरद यादव का जाति गणना कराने का सपना पूरा किया : तेजस्वी