खुली बगावत के मूड में RCP, अध्यक्ष पद की करेंगे दावेदारी

खुली बगावत के मूड में RCP, अध्यक्ष पद की करेंगे दावेदारी

नौकरशाही डॉट कॉम को जानकारी मिली है कि RCP अब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ खुली बगावत करने के मूड में हैं। अध्यक्ष पद की करेंगे दावेदारी।

नौकरशाही डॉट कॉम को जानकारी मिली है कि जदयू नेता और केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ बगावत के मूड में हैं। उन्होंने दर्जनों कार्यकर्ताओं की उपस्थिति में पार्टी नेता की आलोचना की। सूत्रों ने यह भी जानकारी दी कि वे चाहते हैं कि उन्हें राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया जाए।

आरसीपी की दो बातों से जदयू के बड़े नेता पहले ही नाराज हैं। आरसीपी सिंह ने प्रेस के सामने नीतीश कुमार में पीएम मटेरियल होने के सवाल पर कहा था कि पार्टी के पास 16 सांसद हैं। इससे कोई दल का नेता कैसे पीएम बन सकता है। उन्होंने प्रकोष्ठ की संख्या कम करने की भी आलोचना की थी, जो सीधे वर्तमान नेतृत्व की आलोचना थी। ये बातें ही इशारा कर देती हैं कि वे अपने लिए कोई राह तलाश रहे हैं।

अब खबर मिल रही है कि वे पूरी तरह बगावत के मूड में हैं। वे चाहते हैं कि कार्यकर्ता उन्हें राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने की मांग करें। पर हाल यह है कि उन्हें राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने की मांग तो दूर की बात है, उनके किसी करीबी ने पार्टी नेतृत्व के निर्णय की आलोचना तक नहीं की है। जदयू के पार्टी दफ्तर में घंटा भर रहने के बाद भी कहीं से पार्टी निर्णय के खिलाफ कोई हल्की आवाज भी सुनने को नहीं मिली।

जदयू के एक नेता ने नाम प्रकाशित न करने की शर्त पर कहा कि आरसीपी सिंह को भाजपा की तरफ से उकसाया जा रहा है। उन्हें समझा दिया गया है कि पार्टी का बहुमत उनके साथ है, पर वास्तविकता यह है कि उनके साथ आज एक भी कार्यकर्ता नहीं है। वे जमीन पर उतरेंगे, तो पता चल जाएगा। एक दूसरे नेता ने आशंका जताई कि संभव है कि बिहार को एक दूसरा ‘चिराग’ देखने को मिले।

भारत जोड़ो आंदोलन के पहले दिन ही सोनिया-राहुल को ईडी नोटिस