महिलाओं और दलितों को संगठित करेगा लोकतांत्रितक जन पहल

महिलाओं और दलितों को संगठित करेगा लोकतांत्रितक जन पहल

महिलाओं और दलितों को संगठित करेगा लोकतांत्रितक जन पहल। संगठन की बैठक में हुआ फैसला 25 फरवरी को महिला कन्वेंशन, 10 मार्च को दलित कार्यकर्ता कन्वेंशन।

फाइल फोटो

लोकतांत्रिक जन पहल के कोर टीम की बैठक प्रो. टी. निशांत की अध्यक्षता में हुई। बैठक में अग्रलिखित साथी उपस्थित थे – शिवजी सिंह (सासाराम), कृष्ण कुमार अकेला, अशर्फी कुमार सदा, सुधा वर्गीज, अतुल रंजन, हृषीकेश कुमार (सीतामढ़ी), निर्मल, राकेश यादव, मनहर कृष्ण अतुल, कंचन बाला, रंजन जोसेफ (खगड़िया), सौरभ कुमार, आदेसुम लोहुक (औरंगाबाद), अनुपम प्रियदर्शी, प्रदीप प्रियदर्शी, रिजवान अहमद, शौकत अली, अशोक कुमार, मणिलाल, राशिद हुसैन (अररिया) और सत्य नारायण मदन के अलावा लईक अहमद (हैदराबाद), डॉ एस क्यूं आर इलियास (दिल्ली) भी बैठक में मौजूद थे।

बैठक में बिहार की मौजूदा राजनीतिक हालात पर संक्षिप्त चर्चा हुईं। आगामी लोकसभा चुनाव में लोकतांत्रिक धर्मनिरपेक्ष ताकतों को विजयी बनाने की दृष्टि से वैचारिक और जन अभियान के अमली तरीकों पर निर्णय हुए। पिछली बैठक में लिए गए निर्णयों के कार्यान्वयन पर जोर दिया गया।

दिनांक 25 फरवरी ’24 को एक दिवसीय राज्य स्तरीय महिला कार्यकर्ता कन्वेंशन का आयोजन पटना स्थित गांधी संग्रहालय में किया जाएगा। प्रमुख’ जिम्मेदारी सुधा वर्गीज और कंचन बाला को दी गई।

10 मार्च ‘ 24 एक दिवसीय राज्य स्तरीय दलित कार्यकर्ता कन्वेंशन पटना स्थित गांधी संग्रहालय में करने का फैसला लिया गया। इसके पहल की जिम्मेदारी अशर्फी कुमार सदा को दी गई है।

अतिपिछड़े कार्यकर्ताओं का एक राज्य स्तरीय कन्वेंशन होना तय है। इससे संबंधित निर्णयों को लेने के लिए चार साथियों की एक कमेटी को जिम्मेदारी सौंपी गई – मणिलाल, अशोक कुमार, राकेश यादव और सत्य नारायण मदन। एक- दो दिनों में कमेटी अपना कार्यभार पूरा करेगी।

मांझी ने कहा हम धोखा देनेवालों में नहीं, मोदी के साथ थे, साथ रहेंगे