महिलाओं को इस्लामिक चरमपंथ की तरफ खींचा जा रहा : सीपीएम

महिलाओं को इस्लामिक चरमपंथ की तरफ खींचा जा रहा : सीपीएम

केरल सीपीएम ने अपनी इकाइयों को इस बात के लिए आगाह किया है कि मुस्लिम महिलाओं को इस्लामिक चरमपंथ की तरफ धकेलने की कोशिश हो रही है। छिड़ी बहस।

सीपीएम के राज्य सचिव ए. विजयराघवन

सीपीएम की केरल में सरकार है। यहां पार्टी ने अपनी निचली इकाइयों को इस बात के लिए आगाह किया है कि प्रदेश में मुस्लिम महिलाओं को इस्लामिक चरमपंथ की तरफ धकेलने की कोशिश हो रही है। पार्टी ने इस संबंध में अपनी निचली इकाइयों को पर्चा भेजा है। इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक सीपीएम के इस कदम का कांग्रेस और अन्य दलों ने विरोध किया है।

उधर सीपीएम के राज्य सचिव ए. विजयराघवन ने पार्टी के इस कदम को सही कहा है। राज्य सीपीएम की निचली इकाइयों की बैठक गुरुवार को शुरू हुई। पार्टी ने इन बैठकों के लिए पर्चा जारी किया है, जिसमें उन्हें इस बात के लिए सचेत किया गया है कि प्रदेश में महिलाओं को चरमपंथ की तरफ जाने से किस प्रकार रोका जाए।

कार्यकर्ताओं में बांटे गए पर्चे में कहा गया है कि प्रदेश में सांप्रदायिक प्रवृत्तियां बढ़ रही हैं और सपोर्ट ऑर द तालिबान जैसे अभियान से पार्टी ने आगाह किया है। पर्चे में कहा गया है कि खासकर प्रोफेशनल कॉलेज की छात्राओं को अतिवाद और चरमपंथ की तरफ आकर्षित करने की कोशिश हो रही है। पार्टी ने अपने महिला और युवा संगठन से कहा कि वे इस मामले में ध्यान दें।

सीपीएम ने पर्चे में कहा है कि संघ और भाजपा ने मुस्लिमों में असुरक्षा की भावना भर दी है। इसी का फायदा उठा रहे हैं चरमपंथी विचार वाले संगठन।

उधर, कांग्रेस ने सीपीएम के इस प्रयास की आलोचना की है। कांग्रेस ने सीपीएम से उसके इस गंभीर आरोप पर प्रमाण मांगा है। कांग्रेस ने यह भी पूछा कि क्या इस तरह का कोई मामला राज्य में आया है, कोई मामला दर्ज किया गया है? भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष के. सुरेंद्रन ने कहा कि सीपीएम का कथन भाजपा के आरोपों की पुष्टि है। भाजपा पहले से कहती रही है कि युवा महिलाओं को लन जिहाद में फंसाकर उन्हें चरमपंथ के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

The Caravan में नाबेला पानियाथ ने लिखा है कि केरल में एसडीपीएल, जमात-ए-इस्लामी हिंद, आईयूएमएल जैसे मुस्लिमों का प्रतिनिधित्व करनवाले संगठन तालिबान की अफगानिस्तान में वापसी पर खुशी जता रहे हैं। इन्हें तालिबान के बारे में जिम्मेदार रुख अख्तियार करना चाहिए। नाबेला ने लिखा है कि हिंदू अंधराष्ट्रवाद तालिबान की वापसी को अपने राजनीतिक एजेंडा के लिए इस्तेमाल कर रहा है।

बंगाल भाजपामुक्त की राह पर! नामी सांसद TMC में गए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*