मोदी सरकार से नाराजगी बढ़ी, दूसरी बार शुरू हुआ अवार्ड वापसी अभियान

मोदी सरकार से नाराजगी बढ़ी, दूसरी बार शुरू हुआ अवार्ड वापसी अभियान

मोदी सरकार से नाराजगी बढ़ी, दूसरी बार शुरू हुआ अवार्ड वापसी अभियान। महिला पहलवानों के संघर्ष के समर्थन में दूसरे पहलवान ने भी लौटाया पद्मश्री।

महिला पहलवानों के यौन शोषण के आरोपी पर कार्रवाई नहीं होने तथा बृजभूषण शरण सिंह के खास आदमी के कुश्ती संघ पर कब्जे के बाद पहले गोल्ड मेडलिस्ट महिला पहलवान साक्षी मलिक ने कुश्ती छोड़ने की घोषणा की। इसके बाद कल देश के लिए कई अंतरराष्ट्रीय मुकाबलों में गोल्ड मेडल जीत चुके बजरंग पुनिया ने अपना पद्मश्री अवार्ड प्रधानमंत्री आवास के सामने फुटपाथ रख दिया। उन्होंने प्रधानमंत्री के नाम एक पत्र भी छोड़ा, जिसमें उन्होंने महिला पहलवानों के प्रति अन्याय पर क्षोभ जताया है। 24 घंटे के भीतर ही एक और गोल्ड मेडलिस्ट पहलवान वीरेंद्र यादव, जो गूंगा पहलवान के नाम से लोकप्रिय हैं, ने अपना पद्मश्री लौटाने की घोषणा कर दी।

आपको याद होगा 2019 से पहले देश में मुस्लिमों की मॉब लिंचिंग तथा नफरत का बाजार गर्म होने के विरोध में देश के कई बड़े साहित्यकारों ने अपना सम्मान लौटा दिया था। तब भाजपा समर्थकों ने इन प्रतिष्ठित साहित्यकारों को अवार्ड वापसी गैंग कहा था। नफरत और अन्याय के खिलाफ वही संघर्ष एक बार फिर से शुरू हुआ है। एक बार फिर से अवार्ड वापसी शुरू हुई है। इसके केंद्र में मोदी सरकार से बढ़ती नाराजगी है। महिला पहलवानों के यौन शोषण के आरोपी पर कोई कार्रवाई नहीं होना कोई अलग-थलग मामला नहीं है। लोकसभा सदस्य दानिश अली को सदन में गाली दी गई। लेकिन गाली देने वाले भाजपा सांसद पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। महिला पहलवान 40 दिनों तक सड़क पर संघर्ष करती रहीं, लेकिन भाजपा सांसद बृज भूषण शरण सिंह के खिलाफ प्रधानमंत्री या गृहमंत्री ने कभी एक शब्द नहीं कहा। इससे हरियाणा, यूपी में खासतौर से और पूरे देश में मोदी सरकार के खिलाफ रोष बढ़ा है।

इस बीच कल कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी साक्षी मलिक से मिलने तथा उनके संघर्ष के प्रति अपना समर्थन जताने के लिए पहुंची। विभिन्न विपक्षी दलों ने भी महिला पहलवानों के साथ अन्याय के खिलाफ आवाज उठाई है।

तेजस्वी यादव ने कहा कि जाट महिला पहलवानों का अपमान समस्त जाट समाज का अपमान है कि नहीं? महिला पहलवानों का यौन शोषण समस्त खेल जगत व देशवासियों के लिए चिंताजनक है कि नहीं? देश का नाम दुनिया में रौशन करने वाली महिला पहलवानों पर चौतरफा हमला देश की महिलाओं पर हमला है कि नहीं?

30 हजार से ज्यादा बच्चों के पिता भैंसे को देखने पहुंचे तेजस्वी