जमीन पर भाजपा बिखरने लगी है। वैशाली से राजद प्रत्याशी मुन्ना शुक्ला के नामांकन में भाजपा के कई जिला स्तरीय नेताओं के शामिल होने से पार्टी में हड़कंप मच गया है। मुजफ्फरपुर जिला भाजपा अध्यक्ष रंजन कुमार ने कहा कि मुन्ना शुक्ला के नामांकन में शामिल होने वाले नेताओं पर एक्शन लिया जाएगा। मुन्ना शुक्ला ने मंगलवार को मुजफ्फरपुर में नामांकन का पर्चा दाखिल किया।

मुन्ना शुक्ला के नामांकन के बाद मुजफ्फरपुर क्लब स्टेडियम ग्राउंड में महागठबंधन की रैली हुई, जिसमें भाजपा के कई नेता शामिल हुए। भाजपा नगर अध्यक्ष अमित रंजन, जिला भाजपा मीडिया प्रभारी साकेत शुभम, मोर्चा प्रभारी रविरंजन शुक्ला, आलोक राजा सहित दर्जनों भाजपा नेता राजद प्रत्याशी के नामांकन में शामिल हुए। इस खबर के बाद मुजफ्फरपुर तथा वैशाली दोनों जिलों की राजनीति गरमा गई है। इसे स्पष्ट रूप से भाजपा में बिखराव के तौर पर देखा जा रहा है।

भाजपा नेताओं के टूट कर राजद नेता मुन्ना शुक्ला के साथ आने को गंभीर संकेत माना जा रहा है। इससे पहले नवादा और औरंगाबाद में कुशवाहा तथा कुर्मी मतदाताओं के भाजपा से टूट कर राजद के साथ जाने का मामला सामने आ चुका है। अब वैशाली में सवर्णों के टूटने से स्पष्ट है कि भाजपा नीचे जमीन पर बिखरने लगी है। उसका हिंदू-मुस्लिम वाला नारा विफल हो गया है। राममंदिर के नाम पर भी लोग भाजपा को वोट नहीं दे रहे हैं। रोजगार, महंगाई, संविधान बचाओ मुख्य मुद्दे बनते जा रहे हैं। कुल मिला कर इसे प्रधानमंत्री मोदी के जादू के उतरने के रूप में देखा जा रहा है।

देश में वायरल हो गया तेजस्वी का नया अंदाज

इधर मुन्ना शुक्ला ने कहा कि रघुवंश प्रसाद सिंह के बाद से वैशाली का विकास ठप हो गया है। दस वर्षों से एनडीए और लोजपा नेता वैशाली से जीत रहे हैं, लेकिन यहां कोई काम नहीं हो रहा है। उन्होंने कहा कि उन्हें हर वर्ग का समर्थन मिल रहा है। एक पत्रकार ने उन्हें बाहुबली कहा, तो मुन्ना शुक्ला ने कहा कि वे बाहुबली नहीं, वैशाली का बेटा हैं।

प्रत्याशी का नाम ही भूल गए नीतीश, फिर बोले चार हजार पार

By Editor