मुस्लिम बुजुर्ग की पिटाई : ओवैसी ने टीवी चैनल को दी खुली चुनौती

मुस्लिम बुजुर्ग की पिटाई : ओवैसी ने टीवी चैनल को दी खुली चुनौती

मुस्लिम बुजुर्ग की पिटाई मामले में ओवैसी ने टीवी चैनल को चुनौती दी। पुलिस ने पीड़ित की लिखित शिकायत दर्ज नहीं की। समद के बेटे को स्टूडियो में बुलाइए।

गाजियाबाद में एक मुस्लिम बुजुर्ग की पिटाई के मामले पर आज एआईएमआईएम के सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने एक टीवी चैनल को खुली चुनौती दी। कहा, अब्दुल समद के साथ मारपीट की गई। उन्हें ‘जेएसआर’ का नारा लगाने के लिए बाध्य किया गया। पानी मांगा, तो कहा कि हम तीनों पेशाब करेंगे। दाढ़ी काट दी गई। आप सच्चाई जानना चाहती हैं, तो समद के बेटे को अपने स्टूडियो में क्यों नहीं बुला लेती हैं। सच्चाई तुरत सामने आ जाएगी।

टीवी चैनल की महिला एंकर ने ओवैसी के सामने पुलिस का कथन रखते हुए कहा कि ताबीज को लेकर झगड़ा हुआ। मामले को मजहबी रंग दिया जा रहा है। इस पर ओवैसी ने कहा कि हम आपकी बात से सहमत नहीं हैं। समद के बेटे का कहना है कि वे ताबीज ताबीज का काम नहीं करते। वे बढ़ई का काम करते हैं। समद के बेटे ने कहा है कि उन्होंने लिखिति शिकायत की, पर हमारी बातों को पुलिस ने दर्ज नहीं किया।

समद के बेटे ने कहा कि उनके पिता को ‘जेेसआर’ का नारा लगाने के लिए दबाव दिया गया। पीटा गया। पानी मांगा, तो कहा कि हम तीनों पेशाब करेंगे।

ओवैसी ने आगे कहा कि ताबीज तो भाजपा और संघ बांट रहे हैं। लो ताबीज और जो मन में आए, करो। ताबीज रक्षा करेगा। अखलाक हो, जुनैद हो, झारखंड का अंसारी हो, सभी के साथ जो किया गया, वह ये ताबीज पहने लोगों ने ही किया। दिल्ली में नारा लगाया देश के गद्दारों को…।

क्या है नताशा और कलिता का पिंजड़ा तोड़ आंदोलन

मालूम हो कि बुजुर्ग की पिटाई का वीडियो हाल में वायरल हुआ, जिसे कई अखबारों ने आनलाइन संस्करण में प्रकाशित किया। इनमें से पुलिस ने आठ के खिलाफ सांप्रदायिकता फैलाने का आरोप लगाते हुए मुकदमा दायर किया है।

सवाल है कि क्या ओवैसी की चुनौती को टीवी चैनल स्वीकार करेंगे और समद के बेटे को स्टूडियो में बुलाएंगे या सिर्फ पुलिस के कथन को ही सच मान लेंगे?

पापा की विरासत बचानी है तो भगवा चोला उतार फेकें Chirag

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*