मुस्लिम विरोधी छवि बनी, तो ग्लोबल मार्केट में नुकसान : रघुराम

मुस्लिम विरोधी छवि बनी, तो ग्लोबल मार्केट में नुकसान : रघुराम

धार्मिक उन्माद के विरुद्ध पहले बेंगलुरू के IT सेक्टर ने चेताया, अब RBI के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने कहा मुस्लिम विरोधी छवि से ग्लोबल मार्केट में नुकसान।

देश में लगातार मुस्लिमों के खिलाफ हिंसा भड़काने की खुलेआम धमकी, उन पर हमले की घटनाओं पर चिंता जताते हुए RBI के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने कहा कि अगर देश की छवि मुस्लिम विरोधी बनी, तो इससे भारतीय उद्योग जगत को वैश्विक बाजार में भारी नुकसान होगा। इससे पहले बेंगलुरु स्थित बायोकॉन प्रमुख किरण मजुमदार शॉ ने कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसव राज बोम्मई से कहा था कि धार्मिक ध्रुवीकरण पर रोक लगाएं। उन्होंने चेताया था कि अगर टेक सेक्टर में सांप्रदायिक जहर घुस गया, तो आज जो हम इस सेक्टर में ग्लोबर लीडर हैं, जो हमारी छवि है, उसका विनाश हो जाएगा।

आरबीआई के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने टाइम्स नेटवर्क के आर्थिक विषयों पर समागम को संबोधित करते हुए चेताया कि भारत की अल्पसंख्यक विरोधी छवि से अंतरराष्ट्रीय बाजार में भारतीय उत्पाद की मांग घट सकती है। साथ ही इसका दूसरा दुष्प्रभाव यह होगा कि दूसरे देशों की नजर में भारत विश्वसनीय पार्टनर नहीं रह जाएगा।

रघुराम राजन का यह वक्तव्य तब आया है, जब दिल्ली समेत कई प्रदेशों में अल्पसंख्यकों के मकान तथा मस्जिद पर बुलडोजर चले हैं, जबकि यह रमजान का महीना है और मुस्लिम रोजे पर थे। सुप्रीम कोर्ट में मामला गया और उसके आदेश के बाद तथाकथित अतिक्रमण हटाओ अभियान रुक सका। अब जिनके घर तोड़े गए हैं, उन्हें बांग्लादेशी बताकर सांप्रदायिक विभाजन जारी रखा गया है। वहां बंगाल के प्रवासी रहते हैं। लोगों ने पूछा है कि बंगाल देश का हिस्सा है या नहीं। उधर, राजन के इस विश्लेषण के बाद भाजपा ने कहा कि रघुराम का भाषण राजनीतिक है।

कई विदेशी अखबारों में भारत में जारी अलपसंख्यक विरोधी घटनाओं की खबरें प्रकाशित हो रही हैं।

गजब हो गया! सुशील मोदी ने माना भूमिहार व अतिपिछड़े नाराज

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*