मुस्लिमों के मकान के बाद दलितों की जुबान पर BJP का बुलडोजर

मुस्लिमों के मकान के बाद दलितों की जुबान पर BJP का बुलडोजर

मप्र के खरगोन के बाद दिल्ली की जहांगीरपुरी में मुस्लिमों के मकान-दुकान पर बुलडोजर चलाने के बाद अब दलितों की जुबान पर BJP का बुलडोजर चला। जिग्नेश गिरफ्तार।

भाजपा का रामराज्य बुलडोजर से आ रहा है। मध्यप्रदेश के खरगोन में पहले मुसलमानों के मकान-दुकान पर बुलडोजर चला, फिर दिल्ली की जहांगीरपुरी में मुसलमानों की रोजी-रोटी ढाह दी गई और अब दलितों की जुबान पर भाजपा का बुलडोजर चला। कल रात गुजरात के दलित नेता और कांग्रेस के करीबी जिग्नेश मेवानी को असम पुलिस ने गुजरात पहुंच कर गिरफ्तार कर लिया। उन पर प्रधानमंत्री के खिलाफ ट्वीट करने का आरोप है।

भाजपा का मुसलमानों और दलितों पर चल रहा बुलडोजर एक ही प्रोजेक्ट का हिस्सा है। मुसलमानों को टारगेट करके देश में हिंदू-मुस्लिम ध्रुवीकरण किया जा रहा है और दलितों की आवाज बंद की जा रही है। जिग्नेश देश की दलित आवाज हैं। वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा के प्रखर आलोचक हैं। दरअसल भाजपा देश की संस्थाओं का दुरुपयोग करके संविधान और कानून के राज को खत्म करना चाहती है। वह हिंदू राष्ट्र बनाने के लिए आतुर है। संविधान के साथ ही लोकतंत्र और धर्मनिरपेक्षता भी खतरे में है।

जिग्नेश मेवानी को कल असम पुलिस ने गुजरात से गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तारी आधी रात को की गई। जिग्नेश विधायक हैं, पर उन्हें गिरफ्तारी का कोई आदेश भी नहीं दिखाया गया। इससे समझा जा सकता है कि आम आदमी की क्या हालत होगी।

जिग्नेश मेवानी की गिरफ्तारी की देशभर में तीव्र प्रतिक्रिया हुई है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी समेत अनेक संगठनों ने गिरफ्तारी का विरोध किया है। जैसे ही उनकी गिरफ्तारी हुई, थोड़ी देर में खबर वायरल हो गई। आधी रात को ही सैकड़ों कांग्रेस कार्यकर्ता अहमदाबाद एयरपोर्ट पहुंच गए, जहां से उन्हें असम ले जाया गया। यहां कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भाजपा के खिलाफ जम कर नारे लगाए। मालूम हो कि गुजरात में इसी साल नवंबर-दिसंबर में विधानसभा के चुनाव होनेवाले हैं।

जहांगीरपुरी के अकेले हिंदू परिवार की महिला की बात जरूर सुनें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*