नेत्रहीन स्कूली बच्चियों के साथ मनाया नववर्ष, बांटीं खुशियां

नेत्रहीन स्कूली बच्चियों के साथ मनाया नववर्ष, बांटीं खुशियां

कई वर्षों से पटना जैन समाज कुम्हरार स्थित अंतर्ज्योति बालिका स्कूल की बच्चियों के बीच हर रविवार को खुशियां बांटता है। नववर्ष पर बच्चों में बांटीं मिठाइयां।

बिहार नेत्रहीन परषिद के अंतर्गत पटना के कुम्हरार में अंतर्ज्योति बालिका स्कूल संचालित होता है। यहां पटना जैन समाज और दादाबाड़ी जैन मंदिर से जुड़े समाजसेवी हर रविवार को बच्चियों के बीच फल-मिठाइयां और दूसरे गिफ्ट देते रहे हैं। जाडा़ हो, गर्मी, बरसात हो, कोई रविवार छूटता नहीं। यहां तक कि कुछ साल पहले जब राजेंद्र नगर पानी में डूबा था, तब भी नाव लेकर जैन समाज के उत्साही युवा रविवार को पहुंचे थे।

हर व्यक्ति आज अपने ढंग से नववर्ष मना रहा है। एक दूसरे को शुभकामनाएं दे रहा है। आज के दिन जैन समाज के लोग इन बच्चियों के बीच पहुंचे और इनके बीच फल-मिठाइयां आदि बांटे। इनके साथ मिलकर नववर्ष की खुशी मनाई। कार्यक्रम में मुकेश जैन, सुबोध जैन, मनोज जैन सहित कई लोग शामिल थे। यहां बच्चियों ने एक स्वर में शुभकामना गीत गाया। सबने एक दूसरे को नववर्ष की बदाई दी। आज लगभग सौ बच्चियों को नववर्ष की मिठाइयां दी गईं।

हर रविवार को जो सामग्री, गिफ्ट वितरित किए जाते हैं, उसका खर्च कोई समाजसेवी उठाते हैं। आज डॉ. वीणा रानी और डॉ. राधाकांत प्रसाद ने सहयोग किया।

इन बच्चियों के साथ कुछ समय बिताना और मिलकर खुशियां बांटना अच्छा लगता है। नौकरशाही डॉट कॉम ने भी कुछ दिनों पहले इन बच्चियों के साथ कुछ समय बिताया। इन बच्चियों के सपने भी आम बच्चियों की तरह हैं। पढ़ाई के अलावा संगीत सीखना आम है, पर आपको यह जान कर आश्चर्य हो सकता है कि इन बच्चियों में कई मार्शल आर्ट में माहिर हैं। निडर और साहसी हैं तथा किसी भी विपरीत स्थिति का मुकाबला कर सकती हैं। यहां की कई बच्चिां विभिन्न प्रतियोगिताओं में शामिल होने जाती रही हैं और विजयी होती रही हैं।

साल के पहले दिन कविता और स्वरा भास्कर के पीछे पड़ा गालीगैंग

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*