नीतीश के पलटने का चैप्टर पूरी तरह बंद, भाजपा ने कह दिया अधर्मी

नीतीश के पलटने का चैप्टर पूरी तरह बंद, भाजपा ने कह दिया अधर्मी

नीतीश के पलटने का चैप्टर पूरी तरह बंद, भाजपा ने कह दिया अधर्मी। पालतू मीडिया ने हफ्ते भर खबर चलाई कि नीतीश कुमार भाजपा के साथ जाएंगे।

अयोध्या में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम के बीच आज भाजपा ने विपक्षी नेताओं को अधर्मी कहा। कई पोस्टर जारी किए जिसमें लिखा है पहचानिए इन अधर्मियों को। सबसे चकित करने वाला पोस्टर नीतीश कुमार के बारे में है। भाजपा ने सोमवार को एक पोस्टर जारी किया जिसमें मुख्यमंत्री और जदयू के अध्यक्ष नीतीश कुमार की तस्वीर है। साथ में राजद के बिहार प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह की भी तस्वीर है। ऊपर लिखा है पहचानिए इन अधर्मियों को। दो दिन पहले तक देश का पालतू मीडिया कहते नहीं थक रहा था कि नीतीश कुमार इंडिया गठबंधन से नाराज हैं और वे भाजपा के साथ जाने वाले हैं। अब जबकि भाजपा ने नीतीश कुमार को अधर्मी कह दिया है, तो पालतू मीडिया क्या कहेगा? अभी वह इस मुद्दे पर चुप है। क्या अब वह आगे नीतीश के पलटने का अफवाह नहीं उड़ाएगा?

भाजपा ने आज एक-एक करके सारे विपक्षी नेताओं को अधर्मी कहते हुए पोस्टर निकाले। भाजपा ने राहुल गांधी, अखिलेश यादव और अरविंद केजरीवाल को भी कहा अधर्मी कहा है। अधर्मी कहते हुए इनके पोस्टर भी निकाले हैं। ममता बनर्जी और दक्षिण भारत के भाजपा विरोधी नेताओं को भी अधर्मी कहा है।

शायद पहली बार भाजपा ने इतने आक्रामक अंदाज में विपक्षी नेताओं को अधर्मी कहा है। इन सभी नेताओं ने राममंदिर के उद्घाटन को राजनीतिक कार्यक्रम बनाने का आरोप लगाते हुए आमंत्रण अस्वीकार कर दिया है। खबर लिखे जाने तक नीतीश कुमार या उनकी पार्टी जदयू की तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। राजद ने भी अपने नेता जगदानंद सिंह को अधर्मी कहने पर कोई जवाब नहीं दिया है।

भाजपा ने जिस तरह राममंदिर उद्घाटन में नहीं जाने वाले नेताओं को अधर्मी कहा है, उससे विपक्ष का आरोप सही साबित होता है कि भाजपा ने भगवान राम और मंदिर को राजनीतिक लाभ का जरिया बना दिया है। गनीमत है कि भाजपा ने शंकराचार्यों को कुछ नहीं कहा है। हालांकि भाजपा के समर्थक शंकराचार्यों को भी निशाने पर ले रहे हैं। अपमानजनक भाषा का इस्तेमाल कर रहे हैं।

कोलकाता में सड़क पर उतरीं ममता, निकाली सर्वधर्म रैली