मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बुधवार को एक कार्यक्रम में एक इंजीनियर का पैर छूने बढ़ गए। किसी तरह उन्हें ऐसा करने से रोका गया। परियोजना पूरी होने में देरी से नाराज मुख्यमंत्री ने कहा कि जल्दी काम पूरा करिए। कहिए तो हम आपका पैर छू लेते हैं। और इसके बाद वे कुर्सी से उठ कर पैर छूने बढ़ गए। विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि दुनिया में इतना असहाय और अक्षम मुख्यमंत्री कोई दूसरा नहीं। सरकार का इकबाल खत्म हो गया है। बीडीओ, सीओ, इंजीनियर तक सरकार के आदेश को गंभीरता से नहीं ले रहे।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जेपी गंगा पथ में गायघाट से कंगन घाट तक के पथ के लोकार्पण कार्यक्रम में पहुंचे थे। मंच पर उप मुख्यमंत्री सम्राट चौधरी तथा विजय सिन्हा भी मौजूद थे। इसी दौरान परियोजना में देरी से नाराज मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पहले हाथ जोड़ने लगे। कहा कि परियोजना जल्दी पूरा करिए। कहिए तो हम आपका पैर पकड़ लेते हैं। इतना कहकर वे पैर छूने के लिए आगे बढ़े। मौजूद अन्य अधिकारियों ने उन्हें ऐसा करने से रोका। मुख्यमंत्री का यह वीडियो वायरल हो गया है।

————-

बोरा छाप स्कूल में पढ़ा, बना IAS, अब होंगे नीतीश के वारिस

———–

विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि पूरे विश्व में इतना असहाय,अशक्त,अमान्य,अक्षम, विवश,बेबस,लाचार और मजबूर कोई ही मुख्यमंत्री होगा जो BDO, SDO, थानेदार से लेकर वरीय अधिकारियों और यहाँ तक कि संवेदक के निजी कर्मचारी के सामने बात-बात पर हाथ जोड़ने और पैर पड़ने की बात करता हो? बिहार में बढ़ते अपराध, बेलगाम भ्रष्टाचार, पलायन एवं प्रशासनिक अराजकता का मुख्य कारण यह है कि एक कर्मचारी तक (अधिकारी तो छोड़िए) मुख्यमंत्री की नहीं सुनता? क्यों नहीं सुनता और क्यों नहीं आदेशों का पालन करता, यह विचारनीय विषय है? हालाँकि इसमें कर्मचारी व अधिकारियों का अधिक दोष भी नहीं है। एक कमजोर बेबस मुख्यमंत्री के कारण “बिहार में होना वही है जो “चंद” सेवारत और “सेवानिवृत्त” अधिकारियों ने ठाना है” क्योंकि अधिकारी भी जानते है कि ये 43 सीट वाली तीसरे नंबर की पार्टी के मुख्यमंत्री है। जब शासन में इक़बाल खत्म हो जाए हो और शासक में आत्मविश्वास ना रहे तब उसे सिद्धांत,जमीर और विचार किनारे रख ऊपर से लेकर नीचे तक बात-बात पर ऐसे ही पैर पड़ना पड़ता है। बहरहाल हमें कुर्सी की नहीं बल्कि बिहार और 14 करोड़ बिहारवासियों के वर्तमान और भविष्य की चिंता है।

भाजपा के नफरती हिंदुत्व को राहुल ने रौंद दिया

By Editor


Notice: ob_end_flush(): Failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/naukarshahi/public_html/wp-includes/functions.php on line 5420