बिहार के मोतिहारी से दिल्ली जा रही बस बुधवार की सुबह पांच बजे हादसे की शिकार हो गई। हादसे में 18 लोगों की मौत हो गई तथा दर्जनों घायल हो गए। सुबह आठ बजते-बजते पूरा देश जान गया। शोक जताने के साथ ही सवाल भी उठे। अखिलेश यादव ने हादसे को सरकार की विफलता बताते हुए छह सवाल किए। वहीं हादसे के साढ़े सात घंटे बाद बिहार के मुख्यमंत्री कार्यालय ने हादसे पर मुख्यमंत्री का शोक प्रकाशित किया। सीएमओ के बयान को आईपीआरडी ने दिन के 12 बज कर 24 मिनट पर सोशल मीडिया एक्स पर जारी किया। इसमें हादसे के लिए किसी को जिम्मेदार नहीं बताया गया और न ही जांच की मांग की गई।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने हादसे पर दुख जताते हुए मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख रुपए देने की घोषणा की तथा दिल्ली में बिहार के अधिकारियों को उत्तर प्रदेश से समन्वय बना कर घायलों के समुचित इलाज की व्यवस्था करने का आदेश दिया। मुख्यमंत्री ने हादसे पर कोई सवाल नहीं उठाया।

उधर सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने हादसे पर छह गंभीर सवाल उठाए। उन्होंने हादसे के लिए सरकार को जिम्मेदार बताते हुए पूछा कि एक्सप्रेसवे पर विशेष पार्किंग ज़ोन की व्यवस्था होते हुए भी, कोई वाहन बीच रास्ते में क्यों खड़ा हुआ था। CCTV के लगे रहने के बावजूद खड़े वाहन की निगरानी में चूक कैसे हुई। क्या CCTV काम नहीं कर रहे थे। हाई-वे पुलिस कहाँ थी, क्या नियमित पेट्रोलिंग नहीं हो रही थी। इस हादसे के बाद हाईवे एम्बुलेंस सर्विस कितनी देर में पहुँची और हताहतों के संबंध में उसकी भूमिका क्या रही। यदि गाड़ी ख़राब होने के कारण खड़ी थी, तो उसे टोइंग सहायता क्यों नहीं पहुँची। एक्सप्रेसवे पर प्रतिदिन करोड़ों रूपये लिए जाते हैं, वो पैसा एक्सप्रेसवे के व्यवस्थापन और प्रबंधन में न लग कर, क्या कहीं और जा रहा है। भाजपा सरकार इन प्रश्नों का सिलसिलेवार उत्तर दे।

——————

भाजपा के नफरती हिंदुत्व को राहुल ने रौंद दिया

————–

बिहार में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने भी दुख जताया है। घटना में मारे जानेवाले अधिकतर लोग सीतामढ़ी, शिवहर तथा चंपारण के रहनेवाले हैं।

फिर पैर छूने बढ़े नीतीश, तेजस्वी बोले इतना असहाय CM दुनिया में नहीं

By Editor


Notice: ob_end_flush(): Failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/naukarshahi/public_html/wp-includes/functions.php on line 5420