‘राहुल की सदस्यता खत्म करने में 24 घंटे लगे थे, देखते हैं कब होती है बहाली’

सुप्रीम कोर्ट द्वारा राहुल की सजा पर रोक के बाद खड़गे बोले- सदस्यता खत्म करने में 24 घंटे लगे थे, देखते हैं कब होती है सदस्यता बहाली। जानिए राहुल क्या बोले-

सुप्रीम कोर्ट द्वारा राहुल गांधी की सजा पर रोक के बाद कांग्रेस में खुशी की लहर है। पार्टी अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे और राहुल गांधी दोनों कोर्ट के फैसले के बाद दिल्ली स्थित पार्टी मुख्यालय पहुंचे। यहां प्रेस से बात करते हुए खड़गे ने कहा कि मोदी सरनेम वाले केस में गुजरात की निचली अदालत द्वारा सजा देने के 24 घंटे के भीतर राहुल गांधी की सदस्यता छीन ली गई थी। अब देखते हैं कि सुप्रीम कोर्ट द्वारा सजा पर स्टे लगने के बाद कब उनकी सदस्यता फिर से बहाल होती है।

इस अवसर राहुल गांधी ने कहा कि उन्हें क्या करना है इस बारे में उन्हें कोई भ्रम नहीं है। पूरी स्पष्टता है। उन्हें भारत की आत्मा (आइडिया ऑफ इंडिया) को बचाने के लिए संघर्ष करना है और वे संघर्ष करते रहेंगे। उन्होंने कहा-आज नहीं तो कल सच्चाई की जीत होती है। मुझे अपना लक्ष्य पता है, मैं जानता हूं मुझे क्या करना है। जिन्होंने हमारी मदद की और जनता ने जो प्यार और समर्थन दिया, उसके लिए सभी का धन्यवाद।

कांग्रेस अध्यक्ष खड़गे ने कहा-ये सिर्फ राहुल गांधी की नहीं, भारत की जनता की जीत है। राहुल गांधी सच्चाई और देशहित के लिए कन्याकुमारी से कश्मीर तक 4 हजार किमी से ज्यादा चलकर सभी वर्ग के लोगों से मिले हैं, उन सबकी दुआएं हमारे साथ हैं।

कांग्रेस नेता और राहुल गांधी का केस लड़ रहे अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि निचली अदालतों ने बार-बार कहा कि राहुल गांधी जी माफी मांगें, क्योंकि कुछ लोगों को इस मुद्दे पर राजनीति करनी थी। वहीं राहुल गांधी जी ने कहा कि वो सिद्धांतों पर लड़ रहे हैं, उनका ऐसा कोई इरादा नहीं था। आखिर में लोकतंत्र की जीत हुई। आखिर तक उन्होंने माफी नहीं मांगी।

राहुल गांधी की सजा पर रोक के बाद विभिन्न प्रदेशों में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जुलूस निकाले, पटाखे फोड़े तथा मिठाई बांटी। बिहार प्रदेश कांग्रेस कार्यालय सदाकत आश्रम में भी जश्न का माहौल था। सीतामढ़ी सहित कई जिलों में कार्यकर्ताओं ने पटाखे फोड़कर और एक-दूसरे को मिठाई खिला कर जश्न मनाया।

बाहुबली लोजपा नेता हुलास पांडेय के बेटे की मौत, खुद को मारी गोली

By Editor


Notice: ob_end_flush(): Failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/naukarshahi/public_html/wp-includes/functions.php on line 5420