राहुल की टी-शर्ट : BJP के फेसबुक पेज पर उसी का विरोध!

राहुल की टी-शर्ट : BJP के फेसबुक पेज पर उसी का विरोध!

भारत जोड़ो यात्रा के मुद्दों पर चर्चा के बजाय भाजपा ने एक नई बहस छेड़ी। राहुल गांधी की टी शर्ट का मुद्दा उठाया। तो लोग पूछ रहे पीएम के सूट और चश्मे की कीमत।

भारत जोड़ो यात्रा के मुद्दों पर देश में सार्थक चर्चा के बजाय आज भाजपा ने राहुल गांधी की टी-शर्ट की कीमत का मुद्दा जोर-शोर से उठाया। कहा की राहुल की टी-शर्ट की कीमत 41 हजार रुपए है। इसके बाद तो सोशल मीडिया में आम लोग कूद पड़े और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सूट और चश्मे की कीमत पूछ रहे हैं।

नौकरशाही डॉट कॉम को एक मित्र ने भाजपा के फेसबुक पर आम लोगों की प्रतिक्रिया भेजी है, जिसे आपको जरूर पढ़ना चाहिए। उससे देश की नब्ज और हवा का रुख मालूम होगा। फोसबुक पर नितिन कुमार सिन्हा ने लिखा-नितिन कुमार सिन्हा जनता सब समझ रही है, वैसे मोदीजी का सूट कितने का था? Satish Sinha ने लिखा- भारत जुटेगा और नफरत की राजनीति करने वाली भाजपा का हौसला टूटेगा। भारत जोड़ो यात्रा से बीजेपी में बेचैनी और घबराहट साफ दिखती है। Pooja Yadav  ने लिखा- मोदी जो उड़ा रहे हैं, उसके आगे कुछ नही है। उनकी दादी इतनी संपत्ति तो छोड़ गई होंगी। मोदी कहां से ला रहे हैं सवाल ये है? Roopam Gangwar ने लिखा- उसकी औकात है पहनने की। खानदानी है। यह बताओ कि भीख मांगने वाले 10 लाख का सूट और 17 हजार का पेन कहां से अफोर्ड करते हैं?? Sunder Bhadana ने लिखा- आज पहली बार भाजपा के पेज पर भाजपा के ख़िलाफ़ कोमेंट देखे है.! मतलब साफ़ है गिनती उल्टी शुरू हो गई है भाई.!

इससे पहले पांच सितंबर को महंगाई पर हल्ला बोल रैली में राहुल गांधी ने पेट्रोल, डीजल के साथ आटे की कीमत भी लीटर में बता दी थी। हालांकि उन्होंने अगले ही सेकेंड किलो कह कर सुधार लिया था। इसके बाद सोशल मीडिया पर ट्रोल आर्मी भीड़ गई कि राहुल आटे को लीटर में बता रहे हैं। लेकिन कुछ ही देर में मामला पलट गया। फिर तो भाजपा के बड़े-बड़े नेताओं सहित प्रधानमंत्री की जुबान फिसलने के वीडियो की बारिश होने लगी। कई ऐसे भी वीडियो आए, जिसमें जुबान फिसलने की बात नहीं थी, बल्कि गलत आकड़े, गलत तथ्य पेश करने के वीडियो आए। आपको याद होगा कभी प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार के तौर पर नरेंद्र मोदी ने सभा में पाकिस्तान स्थित तक्षशिला को बिहार में बता दिया था। इसके बाद तत्कालीन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने काफी तंज कसा था। ऐसे वीडियो की भरमार होते ही ट्रोल आर्मी को लीटर पर पीछे हटना पड़ा था। लगता है, कल तक और भी भाजपा नेताओं के कपड़े, चश्मे, पेन की कीमत सोशल मीडिया में आनेवाली है।

बिहार में नगर निकाय चुनावों का एलान, 10 और 20 अक्टूबर को

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*