STET : पूरे बिहार में फैला आंदोलन, सड़क पर उतरे AISA, IYC

STET : पूरे बिहार में फैला आंदोलन, सड़क पर उतरे AISA, IYC

STET-2019 के रिजल्ट के बाद सोशल मीडिया पर प्रतिवाद हुआ, अब सड़क पर विरोध शुरू हो गया। माले विधायक ने धरना दिया, IYC ने पुतला फूंका।

पटना में बोर्ड ऑफिस का गेट तोड़ कर घुसते आइसा कार्यकर्ता

STET-2019 के रिजल्ट के बाद अभ्यर्थी लगातार धांधली का आरोप लगा रहे हैं। अब तक सोशल मीडिया में प्रतिवाद हो रहा था, अब पहली बार सड़क पर विरोध शुरू हो गया है। आज पालीगंज से माले विधायक संदीप सौरभ ने बोर्ड ऑफिस के सामने धरना दिया। बाद में आइसा कार्यकर्ता बोर्ड ऑफिस का गेट तोड़कर अंदर घुस गए। उधर बिहार युवा कांग्रेस के कार्यकर्ता प्रदेश अध्यक्ष गुंजन पटेल के नेतृत्व में पटना के कारगील चौक पहुंचे और मुख्यमंत्री का पुतला फूंका।

संगीता पासवान ने ट्विट किया-AISA के राष्ट्रीय महासचिव, पालीगंज विधायक @Sandeep_Saurav_ के नेतृत्व में STET-2019 के रिजल्ट में बड़े पैमाने पर हुई धांधली के खिलाफ AISA और RYA द्वारा बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के कार्यालय का घेराव जारी है!

इसी बीच आइसा कार्यकर्ता बोर्ड ऑफिस का गेट तोड़कर भीतर घुस गए। खबर लिखे जाने तक हंगामा जारी था। शिक्षक अभ्यर्थियों का आंदोलन आज राजधानी पटना से फैलकर प्रदेश के दूसरे जिलों में भी पहुंच गया। सीवान, बक्सर और भागलपुर में भी आइसा और RYA कार्यकर्ता सड़कों पर उतरे। जगह-जगह मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के पुतले फूंके गए।

बिहार युवा कांग्रेस के अध्यक्ष गुंजन पटेल के नेतृत्व में युवा कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पटना में जुलूस निकाला और बाद में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का पुतला फूंका। युवा कांग्रेस ने ट्विट किया- @IYCBihar के अध्यक्ष गुंजन पटेल जी के उपस्थिति में और @IYCPatnaTown के अध्यक्ष मुकुल यादव के अध्यक्षता में STET परीक्षा के रिजल्ट में हुए फर्जीवाड़े को लेकर आज कारगिल चौक पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का पुतला दहन किया गया।

STET, TET, CTET अभ्यर्थियों के पक्ष में उतरे राजद, कांग्रेस, माले

इस दौरान @IYCBihar के कार्यकारी अध्यक्ष दौलत ईमाम जी, उपाध्यक्ष कुमार रोहित जी, प्रदेश महासचिव विकाश झा जी, प्रदेश सचिव चौधरी चरण सिंह, @IYCPatnaTown के महासचिव राकेश, जय, आयुष भगत, मिडिया प्रभारी विशाल यादव, सचिव रोशन, मुकेश उपस्थित रहे। गुंजन पटेल ने कहा-अगर जल्द से जल्द अभ्यर्थियों का संशय दूर नहीं किया गया तो सरकार राज्यव्यापी आंदोलन झेलने के लिए तैयार रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*