राहुल की न्याय यात्रा पर पथराव नहीं, शीशा टूटने की ये है वजह

राहुल की न्याय यात्रा पर पथराव नहीं, शीशा टूटने की ये है वजह

राहुल की न्याय यात्रा पर पथराव नहीं, शीशा टूटने की ये है वजह। बुधवार को बंगाल में राहुल की कार का शीशा टूटा। कांग्रेस ने बताई असली वजह।

राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा बुधवार को बंगाल पहुंची। यहां भी हजारों की भीड़ ने उनका स्वागत किया। इसी बीच राहुल गांधी की कार का शीशा टूट गया। देशभर की मीडिया में खबरें चलने लगीं कि राहुल गांधी का बंगाल में विरोध हुआ। विरोध में पत्थरबाजी हुई, जिससे उनकी कार का शीशा टूट गया। तुरत ही कांग्रेस ने पत्थरबाजी की किसी घटना का खंडन किया और असली बजह बताई।

कांग्रेस की प्रवक्ता सुप्रीया श्रीनेत ने घटना पर स्पष्टीकरण देते हुए कहा कि पश्चिम बंगाल के मालदा में राहुल जी से मिलने अपार जनसमूह आया था। इस भीड़ में एक महिला राहुल जी से मिलने अचानक उनकी कार के आगे आ गई, इस वजह से अचानक ब्रेक लगाई गई। तभी सुरक्षा घेरे में इस्तेमाल किए जाने वाले रस्से से कार का शीशा टूट गया। जननायक राहुल गांधी जी जनता पर हो रहे अन्याय के खिलाफ न्याय की लड़ाई लड़ रहे हैं। जनता उनके साथ है, जनता उनको सुरक्षित रखे है।

इस बीच कांग्रेस ने एक फरवरी से जय जवान अभियान शुरू करने की घोषणा की है। युवा कांग्रेस अध्यक्ष बी.वी. श्रीनिवास ने कहा कि आजादी से पहले जो अन्याय अंग्रेजी हुकूमत कर रही थी, वही अन्याय आज मोदी सरकार कर रही है। तब गांधी जी न्याय के लिए लड़े थे, आज राहुल गांधी जी लड़ रहे हैं। अग्निपथ योजना लागू होने से पहले 60 लाख अभ्यर्थियों ने फॉर्म भरे थे, जिनमें से 1.5 लाख युवाओं का चयन हुआ, लेकिन उन्हें नियुक्ति नहीं दी गई। इन युवाओं को न्याय दिलाने के लिए 28 फरवरी तक हम घर-घर जाएंगे और न्याय पत्र बनाएंगे। फिर एक फरवरी से तीन चरणों में अभियान चलेगा, जिसमें संपर्क करने, संगठित करने के साथ ही सड़क पर प्रतिवाद करने का कार्यक्रम है।

कांग्रेस नेताओं ने कहा कि सेना की भर्ती परीक्षा पास कर चुके डेढ़ लाख युवकों के प्रतिनिधि दिल्ली में जंतर-मंतर पर बैठे रहे, लेकिन प्रधानमंत्री ने मिलने का समय नहीं दिया। फिर राहुल गांधी के पास गए और राहुल गांधी ने पूरी बात सुनने के बाद उन्हें न्याय दिलाने का बरोसा दिया।

साजिश कर गिराई गई नौकरी देनेवाली सरकार : मनोज झा