सुप्रीम कोर्ट का मथुरा की शाही ईदगाह के सर्वे पर रोक से इनकार

सुप्रीम कोर्ट का मथुरा की शाही ईदगाह के सर्वे पर रोक से इनकारर

सुप्रीम कोर्ट का मथुरा की शाही ईदगाह के सर्वे पर रोक से इनकार। मामला कृष्णजन्मभूमि तथा शाही ईदगाह के विवाद का। इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले पर स्टे नहीं।

मथुरा की शाही ईदगाह के सर्वे के आदेश को सुप्रीम कोर्ट ने रोकने से इनकार कर दिया। गुरुवार को इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले के बाद ईदगाह कमेटी सुप्रीम कोर्ट गई थी, जिस पर आज शुक्रवार को कोर्ट ने रोक लगाने से इनकार कर दिया। मालूम हो कि कल इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कृष्ण जन्मभूमि तथा शाही ईदगाह के सर्वे का आदेश दिया था। हाई कोर्ट ने गुरुवार को उत्तर प्रदेश के मथुरा में श्रीकृष्ण जन्मभूमि मंदिर से सटे शाही ईदगाह परिसर का अदालत की निगरानी में एडवोकेट कमिश्नर की टीम के जरिए सर्वे की अनुमति दी थी। इस टीम में तीन सदस्य होंगे। कोर्ट ने सर्वे के तौर-तरीके 18 दिसंबर को तय करने का भी आदेश दिया है। इसका अर्थ है 18 दिसंबर या उसके बाद कभी भी सर्वे का कार्य शुरू हो सकता है।

याद रहे चार महीने बाद देश में लोकसभा चुनाव होना है और उस दृष्टि से भी इस सर्वे आदेश का बड़ा महत्व है। अभी से सोशल मीडिया में कई तरह के हैषटैग चलने लगे हैं, जिससे स्पष्ट है कि इस मुद्दे को चुनाव में भुवावे की तैयारी चल रही है। ट्विटर पर #मोदी_ही_मथुरा_सजाएंगे चलाया जा रहा है। टीवी चैनलों ने अभी से इसे सांप्रदायिक रंग देना शुरू कर दिया है। टाइमस् नाउ नवभारत की हेडिंग देखिए -‘ईदगाह’ का सर्वे होगा..ओवैसी-मदनी को दिक्कत क्यों?

चूंकि मामला कोर्ट के आदेश का है इसीलिए प्रमुख राजनीतिक दलों ने इस मामले पर कोई प्रतिक्रिया जाहिर नहीं की है। हालांकि भाजपा समर्थक कोर्ट के फैसले का स्वागत कर रहे हैं। कई भाजपा समर्थकों ने सोशल मीडिया पर लिखा है अब मथुरा की बारी है।

यौन उत्पीड़न से आहत महिला जज ने CJI से मांगी इच्छा मृत्यु