तेजस्वी ने संघ के बारे में नीतीश की बात दुहराई तो हंगामा

तेजस्वी ने संघ के बारे में नीतीश की बात दुहराई तो हंगामा

तेजस्वी यादव ने भाजपा व जदयू को फंसा दिया। पहले भाजपा नेताओं के नीतीश के खिलाफ दर्जनों बयान दिखाए, फिर संघ के बारे में नीतीश का कथन। हुआ हंगामा।

आज बिहार विधानसभा में राज्यपाल के अभिभाषण पर बोलते हुए विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने पहले तो नीतीश सरकार के खिलाफ एक-एक कर भाजपा के दर्जनों नेताओं के बयान पढ़कर सुनाए और फिर भाजपा और संघ के बारे में नीतीश कुमार का कथन याद दिलाया। उन्होंने भाजपा विधायक का बयान याद दिलाया, जिसमें देश के मुसलमानों से वोटिंग राइट छीन लेने की मांग की गई है। कहा कि पता नहीं मुख्यमंत्री की क्या मजबूरी है कि ऐसे संविधान विरोधी बयान पर भी चुप रहे। उन्हें भाजपा नेताओं को कहना चाहिए था कि मुसलमानों के खिलाफ ऐसा कहनेवाले विधायक पर कार्रवाई करें, पर सीएम चुप रहे। तेजस्वी ने इसके बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का कथन याद दिया कि संघ बहुत खतरनाक संगठन है।

जैसे ही तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार का यह कथन याद दिलाया, उसके बाद भाजपा सदस्य हंगामा करने लगे। उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने कहा कि हमें गर्व है कि हम संघ से जुड़े हैं। संघ राष्ट्रवादी संगठन है। प्रधानमंत्री-राष्ट्रपति तक इससे जुड़े हैं। भाजपा सदस्य उग्र होकर बोलते रहे, पर जदयू समर्थक चुपचाप अपनी सीटों पर बैठे रहे। आज तेजस्वी ने कभी भाजपा नेताओं के बयान से नीतीश कुमार को घेरा, तो कभी नीतीश कुमार के बयान से भाजपा और संघ पर हमला किया।

विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने पहले एक-एक करके भाजपा नेताओं के बयान पढ़कर सुनाए। किसी भाजपा नेता ने कहा कि शराबबंदी फेल है, एक नेता ने कहा कि जदयू सांसद ट्रैक्टर से शराब बिकवाते हैं, किसी भाजपा विधायक ने कहा कि प्रशासन शराब बिकवा रहा है, किसी भाजपा नेता ने कहा कि राज्य में अपराध बढ़ गया है, किसी ने कहा कि भ्रष्टाचार बढ़ गया है। तेजस्वी ने खुद कुछ कहने के बजाय भाजपा नेताओं के बयान से ही साबित कर दिया कि सरकार फेल है। फिर नीतीश के बयान से भाजपा को घेरा। ऐसा कम ही देखा गया है कि बिना खुद कुछ कहे, खुद कोई आरोप लगाए बिना सरकार को इस तरह घेरा गया हो। तेजस्वी ने नीतीश सरकार को लाचार, मजबूर सरकार कहा। जदयू और भाजपा के एक-दूसरे के खिलाफ बयानों को सामने रखकर सरकार को असवसरवादी गठजोड़ साबित कर दिया।

इस गांव के सभी तीन हजार ब्राह्मण वोटरों ने थामा सपा का हाथ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*