विपक्ष ने सधी रणनीति, PM को मणिपुर पर सदन में बोलने पर किया मजबूर

नौ वर्ष तक गोदी मीडिया के जरिये राहुल गांधी को पप्पू बनानेवाले मोदी अब बार-बार राहुल के ट्रैप में फंसते जा रहे। कल इंडिया को आतंकवाद से जोड़ने पर फंसे और आज अविश्वास प्रस्ताव पर।

बुधवार को एक तरफ संसद में हंगामा, दूसरी तरफ पूजा पर बैठे प्रधानमंत्री मोदी

तीन महीने से मणिपुर जल रहा है, लेकिन प्रधानमंत्री मोदी चुप रहे। जब सुप्रीम कोर्ट ने संज्ञान लेते हुए कह दिया कि सरकार एक्शन ले, वरना हम करेंगे कार्रवाई। उसके बाद प्रधानमंत्री मोदी बोले, पर सदन में नहीं बोले। संसद के प्रवेश द्वार के निकट मीडिया से कहा, लेकिन मीडिया को सवाल पूछने की इजाजत नहीं दी। लोकसभा और राज्य सभा में हंगामा हो रहा है, लेकिन वे सदन में आ कर देश के सामने बोलने को तैयार नहीं हैं। इस बीच आप के सांसद संजय सिंह को सस्पेंड कर दिया गया। राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे जब बोल रहे थे, तब उनका माइक बंद कर दिया गया। दमन का हर रास्ता मोदी सरकार ने उठाया। नौ वर्ष तक गोदी मीडिया के जरिये राहुल गांधी को पप्पू बनानेवाले प्रधानमंत्री मोदी अब बार-बार राहुल के ट्रैप में फंसते जा रहे। कल इंडिया को आतंकवाद से जोड़ने पर फंसे और आज अविश्वास प्रस्ताव पर फंस गए।

आखिरकार प्रधानमंत्री मोदी को अब सदन में बोलना ही होगा। विपक्ष ने लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव पेश किया, जिसे लोकसभा अध्यक्ष को नियमों के अनुसार स्वीकार करना पड़ा। लोकसभा अध्यक्ष ने कहा कि वे चर्चा का समय निर्धारित करके सूचना देंगे। संभव है, अविश्वास प्रस्ताव पर एक दो दिनों में चर्चा हो और तब मणिपुर पर प्रधानमंत्री मोदी को विपक्ष के सवालों का जवाब देना ही होगा।

प्रधानमंत्री मोदी मणिपुर पर क्या जवाब देंगे? उनसे पूछा जाएगा कि देश का एक प्रदेश 90 दिनों से जल रहा है आपने शांति की अपील तक नहीं की। आप एक बार भी मणिपुर देखने नहीं गए। मणिपुर के तीन-तीन प्रतिनिधिमंडल ने प्रधानमंत्री मोदी से मिलने का समय मांगा, प्रधानमंत्री नहीं मिले। वे इस दौरान हर काम करते रहे, लेकिन मणिपुर के लिए उनके पास समय नहीं था। विपक्ष के इन तीखे सवालों पर प्रधानमंत्री मोदी क्या बोलेंगे, यह देखनेवाली बात होगी।

संसद में मणिपुर पर बोलने से बच रहे प्रधानमंत्री को अब संसद का सामना करना ही पड़ेगा।

मदरसा बोर्ड के अध्यक्ष बने सलीम परवेज, संस्कृत बोर्ड के भोला यादव

By Editor


Notice: ob_end_flush(): Failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/naukarshahi/public_html/wp-includes/functions.php on line 5420