ये सारे पत्रकार हैं, पुलिस ने उतरवाए कपड़े, क्या है कसूर?

ये सारे पत्रकार हैं, पुलिस ने उतरवाए कपड़े, क्या है कसूर?

युवा कांग्रेस अध्यक्ष श्रीनिवास ने मध्यप्रदेश की तस्वीर जारी की, जिसमें पत्रकारों के कपड़े उतरवा लिए गए हैं। इनका कसूर जान कर आप समझिए देश किधर जा रहा है।

मध्य प्रदेश की एक चिंताजनक तस्वीर वायरल हो रही है। पुलिस ने स्थानीय पत्रकारों के कपड़े उतरवा लिये हैं। वे सिर्फ जांघिए में दिख रहे हैं। इनका कसूर सिर्फ इतना है कि इन्होंने भाजपा के विधायक के खिलाफ खबर चलाई।

युवा कांग्रेस अध्यक्ष बी. वी. श्रीनिवास ने यह तस्वीर शेयर करते हुए लिखा-तस्वीर मध्यप्रदेश के सीधी पुलिस थाने की है, अर्धनग्न खड़े युवा स्थानीय पत्रकार है। इनका गुनाह है कि BJP MLA के खिलाफ खबर चलाने की हिमाकत इन्होंने की थी..।

फिर श्रीनिवास ने एक दूसरी तस्वीर भी जारी की, जिसमें सारे पत्रकार थाने के एक कमरे में बिना कपड़ों के उदास बैठे हैं। ऐसी ही अनेक तस्वीर विभिन्न पत्रकारों ने भी शेयर की है।

जनज्वार डॉट कॉम ने लिखा है कि सीधी जिले की पुलिस ने पत्रकारों को थाने में बुलाकर अर्धनग्न अवस्था में खड़ा कर दिया है। बताया जा रहा है कि इनमें से ज्यादातर यूट्यूब चैनल चलाते हैं और उनका यह हश्र भाजपा के विधायक खिलाफ एक खबर चलाने के बाद किया गया है। जनज्वार ने लिखा है कि इस तस्वीर में एक पत्रकार कनिष्क तिवारी भी हैं वे बघेली में अपने यूट्यूब चैनल पर खबरें चलाते हैं। उनके चैनल के सवा लाख सब्सक्राइबर हैं।

विभिन्न स्रोतो से मिली जानकारी के अनुसार इन पत्रकारों ने भाजपा विधायक केदारनाथ शुक्ला के खिलाफ खबर दिखाई या पोस्ट की थी। सभी पत्रकारों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। यह जानकारी नहीं मिली है कि इनके खिलाफ क्या धाराएं लगाई गई हैं।

पत्रकार रणविजय सिंह ने भी ऐसी ही तस्वीर जारी करते हुए लिखा-मध्यप्रदेश के यूट्यूब पत्रकार हैं, BJP विधायक के खिलाफ खबर चलाई. पुलिस ने नंगा कर दिया।

लीजिए! कोरोना का नया रूप XE भारत पहुंचा, WHO ने क्या कहा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*