क्या लालू को किडनी देने वाली बेटी पाटलिपुत्र से चुनाव लड़ेंगी?

क्या लालू को किडनी देने वाली बेटी पाटलिपुत्र से चुनाव लड़ेंगी?

क्या लालू को किडनी देने वाली बेटी पाटलिपुत्र से चुनाव लड़ेंगी? रोहिणी आचार्य ने कहा जनता चाहेगी तो लोकसभा चुनाव लड़ूंगी। उनके ऐसा कहते ही सियासत गरमाई।

राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद की बेटी रोहिणी आचार्य ने कहा है कि जनता चाहेगी, तो वे लोकसभा चुनाव-2024 लड़ेंगी। उनके ऐसा कहते ही सियासत गरमा गई है। रोहिणी आचार्य के बयान एक बात बिल्कुल स्पष्ट हो गई है कि वे चुनाव लड़ने का मन बना चुकी हैं। साथ ही लालू परिवार भी इस पर सहमत है, तभी उन्होंने ऐसा बयान दिया है। हालांकि उन्होंने इस बात का कोई इशारा नहीं किया है कि वे कहां से चुनाव लड़ेंगी। लेकिन राजद सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सबकुठ ठीक रहा, तो रोहिणी आचार्य पाटलिपुत्र लोकसभा चुनाव क्षेत्र से चुनाव लड़ सकती हैं।

पाटलिपुत्र लोकसभा चुनाव में 2019 में लालू प्रसाद की बड़ी बेटी मीसा भारती प्रत्याशी थीं, लेकिन वे चुनाव जीत नहीं सकीं। उन्हें भाजपा के रामकृपाल यादव ने हराया था। मीसा ने अच्छी टक्कर दी थी। राम कृपाल सिर्फ 39, 321 मतों से जीत पाए थे। लोकसभा चुनाव में यह करीबी मुकाबला ही कहा जाएगा।

रोहिणी आचार्य सिंगापुर में रहती हैं। उन्होंने ही लालू प्रसाद को अपनी एक किडनी दी है। तब लालू प्रसाद का स्वास्थ्य बेहद खराब था और किडनी प्रत्यारोपण ही एकमात्र उपाय थे। राजद के समर्थकों में चिंता थी। मंदिरों-मस्जिदों में लालू के स्वस्थ होने के लिए पूजा और दुआएं की जा रही थीं। इस स्थिति में रोहिणी सामने आई और किडनी दी। प्रत्यारोपण सफल रहा। लालू प्रसाद ने खुद कई बार कहा है कि रोहिणी के कारण उन्हें दुबारा जिंदगी मिली है। खुद लालू ने एकबार इंडिया गठबंधन की बैठक में रोहिणी का आभार जताते हुए कहा था कि उसी ने नई जिंदगी दी। रोहिणी के किडनी देने के बाद उनकी पहचान बिहार के गांवों तक हो गई। एक बात तय है कि रोहिणी जहां से भी चुनाव लड़ेंगी, राजद समर्थक उनके लिए जान लड़ा देंगे।

रोहिणी भले ही विदोश में रहती हैं, लेकिन देश की राजनीति पर खुल कर बोलती रहती हैं। बिहार के सवाल उठाती रही हैं। अगर वे पाटलिपुत्र से चुनाव लड़ती हैं, तो भाजपा के वर्तमान सांसद रामकृपाल यादव के लिए मुश्किल खड़ी हो सकती है।

नाबालिग से रेप मामले में भाजपा विधायक को 25 साल की सजा