कमल नाथ का शिवराज पर हमला, अपराध, दुष्कर्म में नम्बर वन प्रदेश को ऐसा संवारूंगा कि आप खुद पर शर्मायेंगे

कमल नाथ का शिवराज पर धारदार हमला, अपराध, दुष्कर्म में नम्बर वन प्रदेश को ऐसा संवारूंगा कि आप खुद पर शर्मायेंगे

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने पूर्व सीएम शिवराज चौहान पर धारदार हमला करते हुए कहा कि आपने अपराध, दुष्कर्म व बेरोजगारी में नम्बर वन प्रदेश सौंपा था इसे ठीक करके ऐसा प्रदेश बनाऊंगा कि आपको अपने कार्यकाल पर शर्म आयेगी.

कमलनाथ ने कहा कि “शिवराज जी यह वही मध्यप्रदेश है जो आपने मुझे बर्बादी की कगार पर लाकर सौंपा था। कानून व्यवस्था की बदतर स्थिति में ,अपराधों में , दुष्कर्म में ,बेरोजगारी में ,कुपोषण में , युवाओं की बेरोज़गारी में नंबर वन बनाकर छोड़ा था”.

 

उन्होंने कहा कि “मात्र 8 माह में ही, मैं आपके द्वारा सौंपी इस बदहाल व्यवस्था को दुरुस्त करने में पूरी तत्परता से लगा हूं।

गौरतलब है कि मध्यप्रदेश में पिछले 13 सालों तक शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व वाली भाजपा की सरकार के पतन के बाद कोई आठ महीने पहले कांग्रेस ने सत्ता संभाली थी. कमलनाथ ने आज अपने कार्यकाल के आठ महीने पूरे होने के बाद ट्विट करते हुए कहा कि वह अगले पांच वर्ष में ऐसा मध्य प्रदेश बना कर दिखायेंगे कि शिवराज चौहान को अपने कार्यकाल पर शर्म आयेगी.

कमल नाथकी ट्वीट

कमल नाथ ने ट्विट करते हुए लिखा ‘आपकी ( शिवराज सिंह चौहान की) सरकार के समय लगे दागो को धोने में लगा हूँ। आप विश्वास रखें , अगले 5 वर्ष में ऐसा मध्यप्रदेश बनाऊँगा कि आपको , अपने 13 वर्ष के कार्यकाल पर शर्म आयेगी।

 

कमलनाथ ने कहा कि मध्यप्रदेश को अपराध, हिंसा, दुष्कर्म और बेरोजगारी में शिवराज सिंह चौहान की सरकार ने देश में नम्बर वन प्रदेश बना कर छोड़ा था. उन्होंने कहा कि वह अगले पांच साल में शिवराज सिंह चौहान द्वारा  बरबादी के कगार पर पहुंचा दिये गये राज्य को संवार कर दिखा देंगे.

शिवराज ने उठाये थे सवाल

गौरतलब है कि इससे पहले पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Chouhan) ने वीडियो संदेश में कहा कि प्रदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति यह हो गई है कि पत्रकार भी लूट लिए जा रहे हैं. बेटियों के साथ दरिंदगी हो रही है. व्यापारी लूटे जा रहे हैं. चारों तरफ लूट मची है. सुरक्षित कौन है मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में?

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*