आशा हड़ताल का 28 वां दिन : PHC के सामने थाली पीटो आंदोलन

आशा संयुक्त संघर्ष मंच के आह्वान पर राज्य में 12 जुलाई से हड़ताल चल रही है। 28 वें दिन मंगलवार को राज्य के हर PHC के सामने बजाई थाली।

आशा संयुक्त संघर्ष मंच के आह्वान पर 12 जुलाई से जारी ऐतिहासिक हड़ताल आज 28 वें दिन और भी व्यापकता के साथ नजर आई। भूख के खिलाफ मासिक मानदेय के लिए आशाओं ने मंगलवार को पीएचसी परिसर में थाली बजाओ आंदोलन शुरू किया। सैकड़ों आशाओं आशा फैसिलिटेटर की थालियों की खनखनाहट की तेज आवाज से पीएचसी प्रभारी, मैनेजर और बीसीएम सब परेशान हो गए। कई जगहों पर प्रभारी ने थाना पुलिस को बुला लिया। थाना प्रभारी ने इन्हें रोकने को कहा तो आशाओं ने कहा कि हमें मानदेय दिला दीजिए, हमलोग हड़ताल खत्म कर देंगे। थक हार कर थाना पुलिस को लौटना पड़ा। थाली पीटो आंदोलन ने एकबार फिर आशाओं में आगे लड़ने के लिए ऊर्जा भर दी।

आंदोलन के तेवर को सलाम करते हुए आशा हड़ताल की मुख्यनेत्री शशि यादव ने कहा कि मांगें माने जाने तक हड़ताल जारी रहेगी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री को हस्तक्षेप कर मांगों को पूरी कर हड़ताल समाप्त करानी चाहिए क्योंकि आमजन को परेशानी हो रही है। आगे उन्होंने कहा कि भाकपा माले विधायक सत्यदेव राम की ओर से इस दिशा में पहल की जा रही है।

इससे पहले 3 अगस्त को दसियों हजार आशा ने पटना में जोरदार प्रदर्शन किया था। आशा आंदोलन को सभी ट्रेड यूनियनों का भी समर्थन प्राप्त है। आशा का कहना है कि उनकी मांग बेहद वाजिब है और मांग हासिल किए बिना वे पड़ताल से वापस नहीं होंगी।

दंगाइयों को योगिता भयाना का जवाब, कल्लू मियां की दुकान कर दी आबाद

By Editor