प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को शपथ लिये 24 घंटे भी नहीं हुए कि BJP IT सेल हेड अमित मालवीय पर यौन शोषण का आरोप लग गया है। आरोप लगाने वाले कोई विरोधी दल के नेता नहीं हैं, बल्कि आरएसएस से जुड़े प्रमुख व्यक्ति शांतनु सिन्हा हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि अमित मालवीय ने बंगाल में पांच सितारा होटलों में युवतियों का यौन शोषण किया। यह भी आरोप लगाया गया है कि भाजपा के दफ्तर में भी यौन शोषण किया गया।

कांग्रेस प्रवक्ता सुप्रीया श्रीनेत ने आज विशेष प्रेस वार्ता में शांतनु सिन्हा के हवाले से भाजपा को घेरा। कहा कि एनडी गठबंधन सरकार और नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री बने 24 घंटे भी नहीं हुए कि भाजपा के लोगों के काले कारनामे सामने आने लगे हैं।संघ परिवार के नेता शांतनु सिन्हा ने अमित मालवीय पर गंभीर आरोप लगाया है। शांतनु सिन्हा का कहना है कि अमित मालवीयबंगाल के फाइव स्टार होटलों में और भाजपा दफ्तर में महिलाओं का यौन शोषण करता है। भाजपा नेताओं में महिलाओं की आपूर्ति करने की होड़ लग गई है।

———————–

राहुल-अखिलेश की मेहनत ने बचा दिया आरक्षण और संविधान

———————-

सुप्रीया श्रीनेत ने कहा सवाल यह है कि- BJP की IT सेल है या दरिंदों का जमावड़ा महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराध में हर बार आरोपी BJP का नेता ही क्यों होता है? • BJP के पदाधिकारी पर गंभीर आरोप लगे हैं, लेकिन पूरी BJP चुप है। ऐसे आरोपों पर खामोशी का सच क्या है, आखिर इस पदाधिकारी को क्यों और किसके कहने पर बचाया जा रहा है? नरेंद्र मोदी किस मुंह से महिला संरक्षण की बात करते हैं, जब वह हमेशा संरक्षण आरोपी को देते हैं। ये महज संयोग नहीं कि यौन शोषण का आरोप ऐसे व्यक्ति पर लगा है, जो सत्तारूढ़ दल के एक बड़े पद पर बैठा है। ये ऐसा व्यक्ति है, जिसने – • हर बार मर्यादा लांघी और विपक्ष के खिलाफ मनगढ़ंत कहानियां गढ़ीं। • देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित नेहरू और उनके परिवार तक को नहीं बख्शा। • सोनिया जी, राहुल जी समेत विपक्ष के तमाम नेताओं के खिलाफ दुष्प्रचार किया। ऐसे व्यक्ति को पद पर बैठाना BJP के नैतिक दिवालियापन को दिखाता हैं।

यूपी में अलग-थलग पड़े योगी, कुर्सी भी खतरे में

By Editor


Notice: ob_end_flush(): Failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/naukarshahi/public_html/wp-includes/functions.php on line 5420