जातीय जनगणना पर मीटिंग कल, BJP के जनाधार में मची खलबली

जातीय जनगणना पर मीटिंग कल, BJP के जनाधार में मची खलबली

बिहार के लिए कल का दिन ऐतिहासिक होने जा रहा है। कल जातीय जनगणना पर सर्वदलीय बैठक है। बैठक से पहले ही BJP के जनाधार में मची खलबली।

कल का दिन बिहार की राजनीतिक के लिहाज से खास दिन होने जा रहा है। कल शाम चार बजे जातीय जनगणना पर बैठक होगी। बैठक तो कल है, पर भाजपा के जनाधार में अभी से खलबली मच गई है।

नौकरशाही डॉट कॉम ने भाजपा के कई कार्यकर्ताओं से राय जानने की कोशिश की। जातीय जनगणना का नाम सुनते ही भाजपा के एक कार्यकर्ता नाराज हो गए। कहा, कराने दीजिए जातीय जनगणना, उससे क्या होगा, कुछ नहीं होगा। भाजपा के जनाधार में खलबली मची है।

राजद प्रवक्ता चितरंजन गगन ने कहा कि भले ही भाजपा नेता कह रहे हैं कि उनका दल कल मीटिंग में शामिल होगा, लेकिन वे कभी जातीय जनगणना को सहज ढंग से लागू नहीं होने देना चाहेंगे। वे तकनीकि सवाल खड़ा करके इसे लंबा खींचना चाहेंगे। गनन ने यह भी कहा कि भाजपा दलित-पिछड़ा विरोधी है, यह बिहार के लोग जान चुके हैं। यह तो राजद और तेजस्वी यादव के दबाव के कारण मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को जातीय जनगणना पर राजी होना पड़ा। भाजपा ने सबसे अंत में अपनी सहमति दी, वर्ना बैठक तो 27 मई को ही हो जाती। राजद के एक अन्य नेता ने कहा कि सवर्ण मानसिकता से ग्रसित लोग नहीं चाहते कि जातीय जनगणना हो। उन्हों लगता है कि जातीय जनगणना के बाद राजनीतिक-आर्थिक पटल पर उनका वर्चस्व समाप्त हो जाएगा।

कल का दिन बिहार की राजनीति में ऐतिहासिक इसलिए होने जा रहा है, क्योंकि इसके बाद बिहार की राजनीति में बड़ा बदलाव आएगा। सही संख्या सामने आने के बाद पिछड़ों को उसका हक देने की लड़ाई शुरू होगी। राजनीतिक रूप से यह भाजपा के हिंदुत्व को पीछे धकेल सकता है। इसके बाद हिंदुत्व नहीं, सामाजिक न्याय फिर से विमर्श के केंद्र में आ सकता है।

RJD MLA की बैठक, 5 को सांप्रदायिकता के खिलाफ फूंकेंगे बिगुल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*