दलित बच्ची के साथ रूह कंपा देनेवाली दरींदगी, 8 सवालों में घिरी BJP सरकार

दलित बच्ची के साथ रूह कंपा देनेवाली दरींदगी, 8 सवालों में घिरी BJP सरकार। 24 घंटे बाद एफआईआर क्यों, बच्ची सतना से उज्जैन कैसे पहुंच गई…। कांग्रेस ने घेरा।

मप्र की शिवराज सिंह चौहान सरकार पहले से 50 प्रतिशत कमीशनखोरी का आरोप व बगावत झेल रही थी, अब एक दलित बच्ची के साथ रूह कंपा देनेवाली दरींदगी और उसके बाद उठते सवालों में भाजपा सरकार फंस गई है। कांग्रेस ने इसे बड़ा मुद्दा बनाया है। भोपाल से दिल्ली तक कांग्रेस ने इसे मुद्दा बनाया कि शिवराज सरकार बच्ची के दलित होने के कारण मामले को दबा रही है।

कांग्रेस सांसद और मध्य प्रदेश के प्रभारी रणदीप सिंह सूरजेवाला ने आठ सवाल खड़े किए हैं, जिनका जवाब अभी तक शिवराज सरकार ने नहीं दिया है। वे शुक्रवार को बच्ची से मिलने अस्पताल पहुंचे, लेकिन डॉक्टरों ने बताया कि बच्ची से किसी को मिलने की इजाजत नहीं है। डॉक्टरों ने बच्ची के स्वास्थ्य के संबंध में जानकारी दी। इसके बाद सूरजेवाला ने सात सवाल खड़े किए। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में भाजपा शासन में अब “बेटी” होना “अभिशाप” हो गया है। मध्यप्रदेश के उज्जैन में 12 साल की सतना की दलित मासूम बेटी के साथ बलात्कार का वीभत्स और घृणित अपराध हुआ। बेटी घंटो खून से लथपथ उज्जैन में भटकती रही, मानवता रोती रही, माँ भारती की आत्मा छलनी होती रही पर शिवराज सरकार कान के तले हाथ रख सोती रही। आज मैंने इंदौर के एम टी एच हॉस्पिटल में जा कर भर्ती बिटिया की देखरेख कर रहे डॉक्टर्स से बात की है, क्योंकि शासन ने बताया कि अभी बिटिया से मिलने की इजाज़त नहीं। डॉक्टरों ने बलात्कार की जघन्यता के बारे में बताया, जिससे रूह काँप गई । मध्यप्रदेश में सरकार नाम की कोई चीज़ नहीं बची है । शिवराज जी तो ऐसे निष्ठुर हैं कि 3 दिन तक मौन धारण करे रहे।

सूरजेवाला ने भाजपा सरकार से पूछा कि -1. सतना की बेटी के बाबा की गुहार के बावज़ूद 24 घंटे तक पुलिस ने एफआईआर दर्ज क्यों नहीं की ? 2. उज्जैन पुलिस और भाजपा सरकार ने बिना जाँच के ही बिटिया को अपनी FIR में भिखारी क्यों और कैसे बता दिया, जबकि वो स्कूल यूनिफॉर्म में थी ? 3. पुलिस और सरकार ने मीडिया को ये क्यों कहा कि लड़की उत्तरप्रदेश की है, जबकि वो बेटी सतना की है? क्या ये केवल प्रदेश को भ्रमित करने के लिए किया ताकि 12 साल की सतना एक दलित बेटी से बलात्कार का मामला छुपाया जा सके? क्या भाजपा सरकार अब ऐसी ओछी हरकतों पर उतर आयी है? 4. शिवराज सरकार ये क्यों नहीं बता रही कि बिटिया सतना से उज्जैन कैसे पहुँची? 5. उज्जैन पुलिस ने CCTNS में लड़की की गुमशुदा की FIR की पड़ताल क्यों नहीं की, जिससे पूरी बात पता चल सकती थी? 6. जिस अमानवीय तरीक़े व बहाशीपन से अबोध बिटिया के गुप्तांग नष्ट किए गये हैं, ये प्रथम दृष्टि से साफ़ तौर से “गैंग रेप” का मामला नज़र आता है। तो सरकार बग़ैर पूरी जाँच मामले को रफ़ा दफ़ा करने में क्यों लगी है? 7. अब तक बिटिया के परिवार को सतना से इंदौर उसके पास क्यों नहीं लाया गया ? 8. इतने वीभत्स हादसे के बावजूद भी CM शिवराज जी या गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा को बेटी का कुशलक्षेम पूछने, परिवार से मिलने, आँसू पौंछने या मिलने तक की फुर्सत क्यों नहीं मिली?

ISKCON ने मेनका गांधी को भेजा 100 करोड़ का मानहानि नोटिस

By Editor


Notice: ob_end_flush(): Failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/naukarshahi/public_html/wp-includes/functions.php on line 5420