IAS शाह फैसल ने धारा 370 हटाने के विरुद्ध याचिका से वापस लिया नाम

IAS शाह फैसल ने धारा 370 हटाने की याचिका से वापस लिया नाम

IAS शाह फैसल ने धारा 370 हटाने के विरुद्ध याचिका से वापस लिया नाम। शाह टॉपर IAS रहे हैं। JNU की पूर्व छात्र नेता शहला राशीद ने भी याचिका से नाम वापस लिया।

सुप्रीम कोर्ट से बड़ी खबर आ रही है। सुप्रीम कोर्ट में जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाने की संवैधानिका को चुनौती देनेवाली याचिकाओं पर मंगलवार को सुनवाई प्रारंभ हुई। इसी बीच जम्मू-कश्मीर के IAS शाह फैसल ने धारा 370 हटाने के विरुद्ध दायर याचिका से नाम वापस लेने की अर्जी दी। सुप्रीम कोर्ट ने शाह फैसल की अर्जी स्वीकार कर ली है। शाह टॉपर आईएएस रहे हैं। सुप्रीम कोर्ट में 2 अगस्त से रोजाना सुनवाई होगी।

जेएनयू की पूर्व छात्र नेता और एक्टिविस्ट शहला राशीद ने भी सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दे कर जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाने के विरुद्ध याचिका से नाम वापस करने का निवेदन किया। सुप्रीम कोर्ट ने शहला राशिद का निवेदन भी स्वीकार कर लिया।

जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाने की संवैधानिकता को चुनौती देनेवाली याचिका के प्रमुख याचिकाकर्ता आईएएस शाह फैसल थे। इसलिए सुप्रीम कोर्ट में इस केस का नाम शाह फैसल बनाम यूनियन ऑफ इंडिया था। अब चूंकि याचिका के प्रमुख याचिकाकर्ता ने ही नाम वापस ले लिया है, इसलिए सुप्रीम कोर्ट ने इस केस का नाम बदल दिया। लाइव लॉ के अनुसार अब केस का नाम “In Re : Article 370” कर दिया गया है।

केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने आज से चार साल पहले अगस्त, 2019 में जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटा दी थी। उस फैसले को चुनौती देते हुए 20 से ज्यादा याचिकाएं सुप्रीम कोर्ट दर्ज कराई गईं, जिन्हें कोर्ट ने मरज करके एक कर दिया और अब उस पर सुनवाई प्रारंभ हुई है। मालूम हो कि सुप्रीम कोर्ट की पांच जजों का पीठ इन याचिकाओं पर सुनवाई करेगा। चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया डीवाई चंद्रचूड़ इस बेंच की अध्यक्षता करेंगे। सुप्रीम कोर्ट में शुरू हुई सुनवाई पर देश की नजर है। इसके फैसले से देश की राजनीति पर गहरा असर पड़ सकता है।

 नालंदा DM ने मुहर्रम से पहले की बैठक, शांतिपूर्ण आयोजन की तैयारी