INDIA गठबंधन बैठक के दूसरे दिन ही लालू-तेजस्वी को ED नोटिस

INDIA गठबंधन बैठक के दूसरे दिन ही लालू-तेजस्वी को ED नोटिस

INDIA गठबंधन बैठक के दूसरे दिन ही लालू-तेजस्वी को ED नोटिस। 22 को मोदी सरकार के खिलाफ प्रदर्शन के दिन ही तेजस्वी को उपस्थित होने का नोटिस।

संसद के भीतर राजद सांसद की सक्रियता, 141 सांसदों को सस्पेंड किए जाने के खिलाफ मुखर आवाज उठाने तथा इंडिया गठबंधन के बैठक में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के तुरत बाद ईडी ने राजद प्रमुख लालू प्रसाद तथा उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव को नोटिस भेज दिया है। दोनों को अलग-अलग दिन उपस्थित होने का नोटिस दिया गया है। तेजस्वी यादव को ठीक उसी दिन उपस्थित होने को कहा गया है, जिस दिन इंडिया गठबंधन का देश भर में प्रतिवाद मार्च और प्रदर्शन है यानी 22 दिसंबर को। राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद को 27 दिसंबर को उपस्थित होने का नोटिस जारी किया गया है। इससे पहले झामुमो नेता और झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को भी ईडी नोटिस दे चुका है।

लालू प्रसाद और तेजस्वी यादव को उसी पुराने मामले जमीन के बदले नौकरी केस में नोटिस जारी किया गया है। राजद और लालू प्रसाद ने कहा कि ऐसी नोटिसों से वे डरने वाले नहीं हैं। लालू प्रसाद ने इंडिया गठबंधन की बैठक के पहले कहा था कि 2024 लोकसभा चुनाव में मोदी सरकार को उखाड़ फेंकेंगे।

इधर 141 सांसदों को सदन से बाहर करने के खिलाफ इंडिया गठबंधन आज भी मुखर दिखा। कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने राज्यसभा के सभापति के उस बयान की आलोचना की, जिसमें कहा गया कि जाट होने के कारण उनकी मिमिक्री की जा रही है। खड़गे ने कहा कि जातिगत रूप देना ठीक नहीं। क्या मुझे कहना चाहिए कि दलित होने के कारण मुझे बोलने नहीं दिया गया। सरकार मूल सवाल से भाग रही है। गृह मंत्री सदन में आकर बयान क्यों नहीं देते। खड़गे ने कहा कि सभापति जी का काम सदन के अंदर सांसदों को सुरक्षा देना है। सदन में जात-पात की बात करके लोगों को बाहर भड़काने का काम नहीं करना चाहिए। मुझे भी सदन में बोलने नहीं दिया जाता है, तो क्या मैं भी यह कहूं कि मुझे दलित होने के कारण बोलने नहीं दिया जा रहा है।

मंदिर आंदोलन के हीरो आडवाणी को राममंदिर उद्घाटन में आने से रोका