दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल आज लखनऊ पहुंचे। सपा प्रमुख अखिलेश यादव के साथ संयुक्त प्रेस वार्ता में उन्होंने सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को घेरा। उन्होंने दावा किया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र खुद प्रधानमंत्री बनने के लिए चुनाव नहीं लड़ रहे हैं, बल्कि वे अमित शाह को नया प्रधानमंत्री बनाने के लिए काम कर रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि अमित शाह की राह में योगी आदित्यनाथ कांटा बने हैं, लेकिन उनका भविष्य खतरे में है। उन्हें लोकसभा चुनाव के बाद मुख्यमंत्री पद पर रहने नहीं दिया जाएगा।

इससे पहले केजरीवाल ने यह सवाल खड़ा करके भाजपा को मुसीबत में डाल दिया था कि प्रधानमंत्री मोदी ने 75 साल से अधिक उम्र होने पर मार्गदर्शक मंडल में जाने की व्यवस्था की थी। 75 वर्ष होने के बाद कोई पद पर नहीं रहेगा। उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी से पूछा था कि क्या वे अपने बनाए नियम को खुद पर लागू करेंगे या यह नियम केवल आडवाणी को किनारे करने के लिए बनाया गया था। उन्होंने यह भी कहा था कि लोकसभा चुनाव के बाद उप्र के मुख्यमंत्री योगी को पद से हटा दिया जाएगा। अब उनके नए दावे से भाजपा एक बार फिर परेशान हो गई है।

केजरीवाल ने कहा कि BJP को 400 सीट देश से संविधान और आरक्षण खत्म करने के लिए चाहिए। लेकिन हम ऐसा होने नहीं देंगे। 4 जून को INDIA गठबंधन की सरकार आ रही है और हम बीजेपी के द्वारा फैलाई गई सारी Negativity को ख़त्म करेंगे और देश को प्रगति की राह पर ले जाएंगे।

ईद में मेरे घर खाना नहीं बनता था, मुस्लिम दे जाते थे भोजन : मोदी

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि जो चार चरण के वोट पड़े हैं उसमें भारतीय जनता पार्टी चारों खाने चित हो गई है। आपने देखा होगा अब तो आंसुओं की नदी बहने लगी है, इस बार खतरे के ऊपर बह रहा है आंसुओं का पानी।

तेजस्वी ने गजब किया, बता दिया महंगाई की मां का नाम

By Editor