लोकसभा चुनाव-2024 का सबसे लोकप्रिय नारा बन गया है खटाखट, खटाखट..खटाखट, खटाखट। सबसे पहले रांहुल गांधी ने अपनी महालक्ष्मी योजना तथा हर ग्रेजुएट को अप्रेटिसशिप योजना की जिक्र करते हुए कहा कि हर गरीब परिवार की एक महिला को हर महीने की पहली तारीख को साढ़े आठ हजार रुपए मिलेंगे। हर गरीब महिला के बैंक अकाउंट में रुपए जाएंगे खटाखट, खटाखट। हर बेरोजगार ग्रेजुएट के खाते में साढ़े आठ हजार जाएंगे खटाखट।

राहुल गांधी के खटाखट-खटाखट पर खूब तालियां बज रही थीं। गरीब महिलाओं के इस योजना से प्रधानमंत्री मोदी परेशान दिखे और उन्होंने खटाखट पर तंज कसा। यह तंज उल्टा पड़ गया। राहुल गांधी रुके नहीं और हर सभा में खटाखट रुपया देने की बात दुहराते रहे। वे हर सभा में कहते रहे कि प्रधानमंत्री मोदी ने 22 अरबपति बनाए हैं। वे करोड़ों लखपति बनाएंगे। खटाखट-खटाखट। प्रधानमंत्री के तंज कसने के बाद यह नारा आम लोगों में चर्चित हो गया। अब तो सपा प्रमुख अखिलेश यादव भी कह रहे हैं कि भाजपा को भगाना है खटाखट खटाखट। अखिलेश ने खटाखट को नया विस्तार दे दिया। कह रहे हैं कि भाजपा ने देश के लुटेरों को विदेश भगा गिया फटाफट, फटाफट। अब इंडिया गठबंधन को जिताना है खटाखट खटाखट। अखिलेश के खटाखट बोलने पर सभा को जोश बढ़ जा रहा है। तालियां बज रही हैं, ठहाके लग रहे हैं।

11 वीं बार बिहार आ रहे प्रधानमंत्री, किस बात का सता रहा भय

यहीं नहीं खटाखट-खटाखट का नारा आम लोगों की जुबान पर भी चढ़ गया है। कई वीडियो वायरल हैं, जिसमें कांग्रेस समर्थक कह रहे हैं कि इंडिया गठबंधन जीत रहा है खटाखट-खटाखट। इस खटाखट के कारण विपक्षी गठबंधन को यह फायदा हुआ कि गरीबों और युवाओं के लिए उसकी योजना का भी प्रचार हो गया। प्रधानमंत्री मोदी ने खटाखट का मजाक नहीं उड़ाया होता, तो शायद यह इतना लोकप्रिय नहीं होता। इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी ने कांग्रेस के घोषणापत्र पर हमला करते हुए कहा था कि यह मुस्लिम लीग का घोषणापत्र है। उसका नतीजा यह हुआ कि कांग्रेस का घोषणापत्र भी देश भी चर्चित हो गया। इसे 90 लाख बार डाउनलोड किया गया। प्रधानमंत्री विपक्ष को नुकसान पहुंचाने के लिए महला करते हैं, लेकिन वह विपक्ष के लिए वरदान बन जा रहा है। यह 2019 तथा 2024 का बड़ा फर्क है।

यूपी ने वो कर दिखाया, जिसकी किसी को नहीं थी उम्मीद

By Editor


Notice: ob_end_flush(): Failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/naukarshahi/public_html/wp-includes/functions.php on line 5420