Rahul की सजा हाईकोर्ट ने रखी बरकरार, टिप्पणी पर लोग चौंके

Rahul की सजा हाईकोर्ट ने रखी बरकरार, टिप्पणी पर लोग चौंके

Rahul की सजा हाईकोर्ट ने रखी बरकरार, टिप्पणी से लोग चौंके। गुजरात कोर्ट ने कहा राहुल पर अन्य कई केस। सावरकर के खिलाफ बोलने का केस भी। कांग्रेस ने क्या कहा-

कांग्रेस नेता राहुल गांधी के मोदी सरनेम वाले मामले में गुजरात होईकोर्ट ने उन्हें कोई राहत नहीं दी। सजा को बरकरार रखा। इसी के साथ हाईकोर्ट ने टिप्पणी की। कहा कि राहुल गांधी के खिलाफ देश की अलग-अलग अदालतों में 10 केस चल रहे हैं। विदेश में उनके सावरकर पर दिए वक्तव्य के खिलाफ भी केस है।

अमूमन कोई भी कोर्ट अपना फैसला जो सामने केस होता है, उसी के आधार पर देता है। कांग्रेस ने कहा कि कोर्ट ने अलग से जो टिप्पणी की, उसका दूसरा उदाहरण नहीं मिलता। कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने कोर्ट की इस टिप्पणी पर आश्चर्य जताया है।अन्य कानूनविदों ने भी सावरकर वाले मामले को इस केस के साथ जोड़े जाने पर आश्चर्य जताया है।

कांग्रेस नेता सिंघवी ने गुजरात हाईकोर्ट के फैसले बाद दिल्ली में प्रेस वार्ता में कहा-यह मामला सिर्फ राहुल गांधी या किसी व्यक्ति विशेष का नहीं है, क्योंकि यह स्वतंत्र बोलचाल और अभिव्यक्ति की बात है। इस सरकार का उद्देश्य है कि अभिव्यक्ति की आजादी पर नियंत्रण किया जाए। इसीलिए मानहानि के कानून का दुरुपयोग किया गया है।

उन्होंने कहा कि राहुल जी सत्य की राह के निडर यात्री हैं और वो BJP के झूठ का पर्दाफाश करते रहेंगे। इस तरह के पर्दाफाश से मोदी सरकार बौखलाई रहती है। हमें विश्वास है कि सत्य की जीत होगी और इस अहंकारी सत्ता को अंत में कड़ा जवाब मिलेगा। उन्होंने यह भी कहा कि राहुल गांधी जी पर आए कोर्ट के फैसले में मानहानि कानून को जघन्य अपराध बताया गया है। जैसे ये देश के खिलाफ अपराध है।

ट्विटर पर दिन भर #RahulGandhi ट्रेंड करता रहा। सोशल मीडिया में कई लोगों ने राहल गांधी द्वारा संसद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अडानी की तस्वीर दिखाने वाला फोटो शेयर किया है। सोशल मीडिया में आम तौर से राहुल गांधी के प्रति सहानुभूति दिखाई पड़ रही है।

लालू ने शिक्षा मंत्री को हड़काया, IAS केके पाठक से विवाद हुआ ठंडा