बिहार के आईटी और एससी-एसटी कल्याण मंत्री डॉ. संतोष सुमन की सभा में 75 लोग जमा हुए। इनमें भी 25 लोग तो उनके साथ गए थे। सभा स्थल के पास मंत्री जी की चार गाडियां दिख रही हैं।

कल्याण मंत्री डॉ. संतोष कुमार सुमन हिंदुस्तानी अवामी पार्टी (सेकुलर) के अध्यक्ष हैं। वे पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी और हम (से) के संरक्षक जीतनराम मांझी के पुत्र हैं। वे लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण के मतदान में रोहतास में एनडीए प्रत्याशी के प्रचार में पहुंचे थे। उन्होंने यह तस्वीर खुद ही सोशल मीडिया एक्स पर शेयर की है। उन्होंने लिखा है- केंद्र में चाहिए मजबूत सरकार, इसलिए भी आ रहे मोदी। आगे लिखा कि इस बार सासाराम लोकसभा क्षेत्र से राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन समर्थित (NDA) के लोकप्रिय उम्मीदवार शिवेश राम के लिए आज हमने रोहतास के चेनारी विधानसभा के ग्राम– पचौड़ प्रखंड -उधहनी में सघन जन सम्पर्क किया।

मंत्री के ट्वीट से स्पष्ट है कि उनके पास बताने को मोदी जी के काम नहीं हैं। वे मजबूत सरकार का नारा दे रहे हैं। लेकिन ये नहीं बता रहे हैं कि 2019 में भी देश की जनता ने मजबूत सरकार चुनी थी। अकेले भाजपा को 303 सीटें दी थीं। बिहार की 40 में 39 सीटें दी थीं। इतनी मजबूत सरकार से जनता को क्या फायदा हुआ। मोदी जी की मजबूत सरकार ने अग्निवीर योजना लाई, जिससे युवाओं में भारी आक्रोश है। मजबूत सरकार ने सेना में ठेके पर भर्ती योजना लाई। मजबूत सरकार ने नोटबंदी की, लॉकडाउन किया और कोरोना में थाली बजवाई। मंत्री सुमन ने यह नहीं बताया कि इस बार मोदी जी के नेतृत्व में मजबूत सरकार बनी, तो क्या कदम उठाए जाएंगे। मंत्री की सभा में इतने कम लोगों की उपस्थिति न सिर्फ मंत्री की प्रतिष्ठा का स्तर बताने को काफी है, बल्कि यह भी बता रहा है कि सासाराम में भाजपा प्रत्याशी का क्या हाल है।

By Editor


Notice: ob_end_flush(): Failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/naukarshahi/public_html/wp-includes/functions.php on line 5420