अधूरा काम छोड़ोगे तो जाओगे जेल

मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने कहा है कि सरकार राज्य में सड़क निर्माण और पेयजलापूर्ति योजनाओं को आधा-अधूरा छोड़ देने वाले संवेदकों को जेल भेजेगी।  सीएम ने आज मुंगेर में प्रमंडलीय स्तर पर विकास योजनाओं की समीक्षा के लिए बैठक बुलायी थी। इस दौरान उन्‍होंने मुख्‍य सचिव अंजनी कुमार सिंह को निर्देश दिया कि राज्य सरकार लोक स्वास्थ्य एवं अभियंत्रण विभाग और सड़क निर्माण से जुडे़ संवेदकों को आगामी दो माह में अधूरी योजनाओं को पूरा करने का कड़ा निर्देश दें। यदि संवेदक ऐसा नहीं करते हैं तो सरकार उन संवेदकों के विरूद्ध थाने में प्राथमिकी दर्ज करेगी और संवेदकों को जेल भेजा जायेगा। upadyay jee

 

मुख्‍यमंत्री ने कहा कि विकास योजनाओं के कार्यान्‍वयन में गति‍ और गुणवत्‍ता का विशेष ध्‍यान दिया जाए। उन्‍होंने कहा कि मुंगेर में इंजीनियरिंग और मेडिकल कॉलेज खोला जाएगा। सीएम ने कहा कि कार्यालय में कार्यों पर निगरानी के लिए सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे। किसी भी स्‍तर पर भ्रष्‍टाचार बर्दाश्‍त नहीं किया जाएगा। इस मौके पर नगर विकास मंत्री सम्राट चौधरी, पर्यटन मंत्री जावेद इकबाल अंसारी समेत बड़ी संख्‍या में अधिकारी मौजूद थे।

 

पत्रकारों से बातचीत में मुख्यमंत्री ने हवेली खड़गपुर अनुमंडल के खैरा गांव में फ्लोराइड युक्त पीने के पानी से विकलांग हो रहे लोगों की समस्या पर कहा कि इस संबंध में उन्होंने राज्य के मुख्य सचिव को खैरा गांव में दो वर्ष पूर्व पानी शुद्धिकरण यंत्र स्थापित करने के कार्य में जुड़े संवेदकों को आगामी पांच मार्च तक काम पूरा करने का निर्देश देने को कहा है। यदि निर्देश के वावजूद संवेदक ऐसा नहीं करते हैं, तो सरकार उन संवेदकों के विरूद्ध भी प्राथमिकी दर्ज करेगी।  उन्होंने साफ किया कि जनता के साथ खिलवाड़ करने की इजाजत संवेदकों को नहीं दी जायेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*