अस्‍पताल से घर लौटे उपेंद्र कुशवाहा ने कहा – हमला जानलेवा था, परन्तु मारने वाले से बचाने वाले के हाथ होते हैं लम्बे  

अस्‍पताल से घर लौटे उपेंद्र कुशवाहा ने कहा – हमला जानलेवा था, परन्तु मारने वाले से बचाने वाले के हाथ होते हैं लम्बे

रालोसपा प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा पीएमसीएच से डिसचार्ज हो कर अपने पटना स्थित आवास पर लौट आये हैं। इसके बाद उन्‍होंने एक के बाद एक ट्विट कर अपनी मंशा जाहिर कर दी है। उन्‍होंने अपने शुभचिंतकों को भी बधाई दी है और कहा कि ख़ुदा का शुक्र है, अस्पताल से घर वापस आ गया। अस्पताल में भर्ती रहने के दौरान शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करने वाले सभी साथियों, दोस्तों, शुभचिंतकों, चिकित्सकों, चिकित्साकर्मियों, नेताओं एवं आमजनों के प्रति आभार।

Upendra Kushwaha

नौकरशाही डेस्‍क

सभी की दुआएं काम आ गयी

मालूम हो कि बीती 2 फरवरी को शिक्षा सुधार – जन जन का अधिकार मुहीम के तहत राजभवन मार्च कर रहे रालोसपा प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा पुलिस लाठीचार्ज में घायल हो गए थे, जिसके बाद उन्‍हें पीएमसीएच में भर्ती कराया गया था।

उन्‍होंने अपने एक ट्विट में कहा कि हमला तो जानलेवा था, परन्तु मारने वाले से बचाने वाले के हाथ लम्बे होते हैं। हृदय से अपने उन साथियों का आभार, जिन्होंने पुलिस की लाठी और मेरे बीच आकर अपने-अपने सर फोड़वा लिए और मेरी जान बचा दी। शेष भगवान का आशीर्वाद और आप सभी की दुआएं काम आ गयी। 

हमारी भी ज़िद है आशियाना वहीं पर बनाने की

इसके अलावा कुशवाहा ने अपने विरोधियों को कविता के जरिये भी हमला बोला और लिखा

हमारा तो संकल्प है…..!

कदम हमारा नहीं रुकेगा,

हमला चाहे जितना हो…।

शिक्षा में सुधार करेंगे..…करके रहेंगे ।

बादलों ने फिर आज साजिश की,

जहाँ मेरा घर है वहीं बारिश की ।

फलकों  की ज़िद है बिजलियां गिराने की,

तो हमारी भी ज़िद है आशियाना वहीं पर बनाने की ।

अंतिम ट्विट में उपेंद्र कुशवाहा ने लिखा कि #रालोसपा आहुत #BiharBand को भरपूर समर्थन व सहयोग देकर शांतिपूर्ण एवं अभूतपूर्व तरीके से पूर्णतः सफल बनाने के लिए समस्त बिहार वासियों एवं महागठबंधन के सभी नेताओं, साथियों और उत्साही कार्यकर्ताओं को हृदय से बधाई।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*