‘आनंद’ की कीमत चुकायी पुष्‍कर ने, निर्मला भेजी गयीं कटिहार

कैमूर की वादियों में दांपत्‍य का सपना बुन रही निर्मला कुमारी को कटिहार भेज दिया गया, जबकि कैमूर के एसपी पुष्‍कर आंनद को निर्मला के पैतृक जिला भोजपुर भेजा गया। कैमूर की एसडीपीओ निर्मला कुमारी ने कल प्रेस वार्ता कर कैमूर के एसपी पुष्‍कर आनंद पर यौन शोषण का आरोप लगाकर सनसनी फैला दी थी। एसडीपीओ ने थाने में प्राथमिकी भी दर्ज करायी थी। हालांकि एसपी ने निर्मला कुमारी के आरोपों को निराधार और बदनाम करने वाला बतलाया था।papu

वीरेंद्र यादव

 

एसपी और डीएसपी के आरोप-प्रत्‍यारोप के बाद यह तय हो गया था कि दोनों अधिकारियों का तबादला तय है। राज्‍य सरकार ने आज इसकी अधिूसचना जारी कर दी। जारी अधिूसचना के अनुसार, पुष्‍कर आनंद को एमएमपी आरा का कमांडेंट बनाया गया है। वह अगले आदेश तक इसी पर कार्यरत रहेंगे। उल्‍लेखनीय है कि निर्मला कुमारी का पैतृत जिला भोजपुर ही है। उधर निर्मला कुमारी को सहरसा भेज दिया गया है। उन्‍हें बीएमपी – 7 कटिहार में डीएसपी बनाया गया है। उनके जिम्‍मे बीएमपी – 12 सहरसा के सहायक समादेष्‍टा का प्रभार भी होगा।

 

उम्र में पुष्‍कर से बड़ी हैं निर्मला

2009 बैच के आइपीएस अधिकारी पुष्‍कर आनंद और 2005 बैच की बिहार पुलिस सेवा की अधिकारी निर्मला कुमारी की उम्र में कम से कम पांच का अंतर है। पुष्‍कर की जन्‍मतिथि 1978 है, जबकि निर्मला कुमारी की जन्‍मतिथि 1973 बतायी जाती है। पुष्‍कर आंनद ने सिर्फ शादी के प्रस्‍ताव से इंकार किया है। शारीरिक संबंधों पर मौन साधे हुए हैं, जबकि निर्मला ने अंतरंग संबंधों की बात स्‍वीकार की है। दोनों के संबंधों की तह में जाने के लिए पुलिस मुख्‍यालय ने टीम गठित कर दी है। आइजी अनुपमा निलेकर की अध्‍यक्षता में तीन सदस्‍यीय जांच टीम मामले की तहकीकात करेगी। इस टीम में आइजी कल्‍याण सुनील कुमार और एसपी कमजोर वर्ग हरप्रीत कौर शामिल हैं। इस बीच डीजीपी पीके ठाकुर ने कहा है कि जांच में दोषी पाए गए अधिका‍रियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*