केंद्रीय मंत्री के झूठ का पर्दाफाश, भारत बंद के कारण नहीं हुई बच्ची की मौत, तेजस्वी ने कहा माफी मांगें रविशंकर

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद के झूठ का पर्दाफाश हो गया है.भारत बंद के दौरान रास्ता रोकने से बीमार बच्ची की मौत नहीं हुई.यह बात खुद बच्ची के पीता प्रमोद मांझी और जहानाबाद डीएम ने भी कही है.

भारत बंद

जहानाबाद डीएम ने भी कहा बच्ची की मौत से बंद का कोई संबंध नहीं

इससे पहले मीडिया के एक धड़े ने खबर दिखाई थी कि जहानाबाद में गौरी नामक छोट्टी बच्ची की मौत भारत बंद के कारण रास्ता ना मिलने से बच्ची को समय पर अस्पताल नहीं ले जाया जा सका. इसके बाद केंद्रीय मंत्री रविशंक प्रसाद ने बाजाब्ता प्रेस कांफ्रेंस करके आरोप लगाया था कि मासूम बच्ची को ले जा रहे वाहन को बंद समर्थकों ने रोका जिसके कारण बच्ची को समय पर अस्पताल नहीं पहुंचाया जा सका और ऊसकी मौत हो गयी.

इसके बाद राजद और कांग्रेस के बंद समर्थकों को इसके लिए जिम्मेदार ठहराया गया. उधर केंद्रीय मंत्री ने आव देखा ना ताव और जल्दी से प्रेस कांफ्रेंस करके आरोप लगा दिया कि बच्ची के वाहन को बंद समर्थकों ने रोका जिससे उसकी मौत हो गयी.

उधर जहानाबाद के डीएम आलोक रंजन ने कहा कि बच्ची की मौत से बंद का कोई लेना देना नहीं. बच्ची के पिता ने दो साल की अपनी बच्ची को अस्पताल ले जाने में पहले ही काफी देर कर दी थी. उनके वाहन को कहीं नहीं रोका गया. वह समय पर अस्पताल के लिए चलते तो संभव था कि उसे बचाया जा सकता था. उन्होंने कहा कि बंद के दौरान इमरजेंसी सर्विसेज पर कोई असर नहीं पड़ा और बंद समर्थकों ने  इमर्जेंसी सेवा को बाधित नहीं किया था.

बच्ची के पिता ने बाद में साफ कहा कि रास्ते में उसके वाहन को कहीं नहीं रोका गया.

उसके बाद राष्ट्रीय जनता दल के लीडर तेजस्वी यादव ने इस झूठ के लिए रविवशंकर प्रसाद पर जोरदार हमला करते हुए कहा कि  “श्री रविशंकर प्रसाद जी, आपके झूठ की पोल खुल गयी है. जहानाबाद के ज़िलाधिकारी बता रहे है कि उस बच्ची की मौत भारत बंद से नहीं हुई थी। अब आप श्री राहुल गांधी जी और देश से माफ़ी माँगिए”.

तेजस्वी ने कहा कि  संघ की शाखा में यही ज़हर फैलाना सिखाया जाता है क्या? आपका सफ़ेद झूठ पकड़ा गया है इसलिए अब माफ़ी माँगने में शर्म कैसी?‬

याद रखना, राजद अब लाठी ही नहीं लैपटॉप वाली भी पार्टी है। आपके संघी झूठ, फ़रेब, ढोंग और पाखंड का दो मिनट में पर्दाफ़ाश कर देंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*