गोपाल मंडल और गंगेश्वर पर गिरी गाज, निलंबित

सत्तारूढ़ जदयू में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है। विधायकों पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का अंकुश कमजोर पड़ रहा है। पार्टी के अंदर से चुनौती देने का सिलसिला शुरू हो रहा है। शायद यही कारण है कि गोपालपुर के विधायक गोपाल मंडल और विधान पार्षद राणा गंगेश्वर ने पार्टी लाइन से अलग होकर अपनी लाइन लेने लगे हैं। हालांकि पार्टी ने दोनों को विवादास्पद बयान के लिए निलंबित कर दिया है।

नौकरशाही ब्यूरो

 

सरफराज पहले से हैं निलंबित

गोपालपुर से जदयू के विधायक नरेंद्र नीरज उर्फ गोपाल मंडल ने पुलिस प्रशासन को खुलेआम चुनौती दी और कहा कि पहले भी वे हत्‍या की राजनीति करते थे और हत्‍या की राजनीति आगे भी कर सकते हैं। विधायक ने राज्‍य सरकार की शराबबंदी की घोषणा का मजाक उड़ाते हुए कहा कि शराब राजा-महाराजाओं के शौक हैं। उधर जदयू के ही विधान पार्षद राणा गंगेश्‍वर ने राष्‍ट्रगीत को देश की गुलामी का प्रतीक बताया।

bihar-result_e3bc1250-8c1b-11e5-8626-d6ed0b59308e

अब तक महागठबंधन के चार विधायक निलंबित

दोनों विधायकों के बयान को पार्टी ने गंभीरता लिया और पार्टी की कोर कमेटी की बैठक के बाद दोनों को पार्टी से निलंबित कर दिया गया। इसके साथ ही दोनों से स्‍पष्‍टीकरण भी मांगा गया है। पार्टी इससे  पहले भी एक विधायक सरफराज को ट्रेन में महिला के साथ छेड़खानी करने के आरोप में निलंबित कर चुकी है। उधर महागठबंधन के ही राजद के विधायक राजवल्‍लभ भी निलंबन की मार झेल रहे हैं। उन पर नाबालिग लड़के साथ रेप का आरोप है। कांग्रेस के एक विधायक भी लड़की भगाने के मामले में चर्चा में आए थे, हालांकि बाद में मामला शांत हो गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*