पाकिस्तान जिंदाबाद विवाद: ‘परसेप्शन के आधार पर की गयी गिरफ्तारी’- मनु महाराज– Exclussive

शुक्रवार को  पटना में  ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ की अफवाहबाजी पर  सोशल मीडिया से ले कर सड़कों पर कोहराम मच गया. इसके बाद पुलिस सक्रिय हुई और एक व्यक्ति की गिरफ्तारी की गयी.हालांकि कुछ लोगों ने गिरफ्तारी को गलत बताया. वहीं इस मामले में पटना की अमनपसंद जनता ने काफी धैर्य दिखाया तो पुलिस प्रशासन भी चुस्त रहा.इस मामले में पटना के एसएसपी मनु महराज से हमारे सम्पादक इर्शादुल हक ने बात की. पढिये मुख्य अंश.

मनु महाराज

मनु महाराज

 

पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया के प्रदर्शनकारी तौसीफ की गिरफ्तारी का क्या मामला है

शुक्रवार को पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया के लोग प्रदर्शन कर रहे थे. उनमें से एक को गिरफ्तार किया गया है. उस शाम सोशल मीडीया पर यह खबर चल रही थी कि उसमें पाकिस्तान जिंदाबाद का नारा लगाया गया. इससे संबंधित एक वीडियो भी उस पर डाला गया था.

क्या उस वीडियो में ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ का नारा लगाया जा रहा है? या वे लोग ‘पॉपुलर फ्रंट जिंदाबाद’ और ‘पीएफआई जिंदाबाद’ का नारा लगा रहे हैं?

पटना पुलिस इस मामले में किसी अंतिम नतीजे तक नहीं पहुंची है. इस वीडियो के वैज्ञानिक परीक्षण के लिए भेजा गया है.

तो फिर गिरफ्तारी किस आधार पर हुई है?

शुक्रवार की शाम सोशल मीडिया पर जो वीडियो डाला गया था, उससे समाज में यह परशेप्शन जा रहा था कि इसमें ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ का नारा लगाया जा रहा है. स्थिति तनावपूर्ण न हो इसलिए हमने इसमें तत्पर्ता से काम किया.

लेकिन एक पक्ष अपनी इस बात पर अडिग है कि उस दौरान पाकिस्तान जिंदाबाद का नारा नहीं लगाया गया फिर भी गिरफ्तारी हुई. इससे एक वर्ग में यह भी तो परसेप्शन जा रहा है कि उस वर्ग को विक्टिमाइज किया जा रहा है ?

जांच की रिपोर्ट आ जायेगी तो सारी चीजें क्लियर हो जायेंगी.

जांच रिपोर्ट कब आ रही है ?

एक दो दिन में रिपोर्ट आ जायेगी.

पॉपुलर फ्रंट के लोग यह इल्जाम लगा रहे हैं कि कुछ लोगों ने उनके खिलाफ साजिश की. और इसके लिए मेनस्ट्रीम के मीडिया और सोशल मीडिया को हथियार बनाया.

मैं मानता हूं कि सोशल मीडिया का दुरूपयोग काफी बढ़ा है. इससे माहौल खराब होता है. समाज में अशांति फैलने का खतरा बढ़ जाता है. ऐसे में हमें शीघ्र कार्रवाई करनी होती है. हमने इस मामले में पीएफआई के अधिकारियों से बात की है.

 

ये भी पढ़ें –  देश जलाऊ पत्रकारों ने पॉपुलर फ्रंट जिंदाबाद को पाकिस्तान जिंदाबाद कहके षड्यंत्र रचा

पीएफआई ने इस प्रदर्शन की रिकार्डिंग की थी. उन्होंने इसकी सीडी पुलिस कौ सौंपी है.

उस सीडी की भी जांच की जा रही है.

जिस तरह से इस मामले को मीडिया ने तूल दिया उससे सामाजिक तनाव का खतरा बढ़ने का अंदेशा था. लेकिन पटना की जनता ने बहुत धैर्य दिखाया.

बिल्कुल. सोश मीडिया और यहां तक सड़कों पर कई संगठन और व्यक्ति उतर आये थे. इस मामले पर लोगों ने विरोध में भी प्रदर्शन किया. ऐसे में पुलिस को सक्रिय होना ही था. ऐसा करने से हालात सामान्य हुए.

 

पाकिस्तान जिंदाबाद’:फर्जी वीडियो दिखाने वाले मीडिया पर ठुकेगा मुकदमा,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*