फर्जी वीडियो दिखाने पर अब इन पत्रकारों पर चले देशद्रोह का मुकदमा

एबीपी न्यूज और टीवी टुडे ने जेएनयू में देशद्रोही नारे लगाने वाले नकली वीडियो को एक्सपोज कर दिया है. तो जल्लाद की तरह चीख कर कन्हैया को देशद्रोही का फरमान सुनाने वाले दीपक चौरसिया, आईबीएन के सुमित अवस्थी और जी न्यूज के सुधीर  चौधरी के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा जरूर बनता है.deepak.sumit

इर्शादुल हक, एडिटर नौकरशाही डॉट कॉम

उधर एनडीटीवी पर रवीश कुमार ने अपने कार्यक्रम प्राइम टाइम में टीवी स्क्रीन को ब्लैक करके पश्चाताप जता कर पत्रकारिता का भरम रखने की तो कोशिश की, पर सवाल है कि बिन जांचे- परखे, बल्कि जानबूझ कर नकली वीडियो को एक्सक्लुसि वीडियो बता कर दस दिनों तक देश के  मानस में, कुछ लोगों के खिलाफ विष बो कर देश के साथ  कितनी बड़ी  गद्दारी की गयी. दीपक चौरसिया से ले कर एंकर सुमित अवस्थी तक के ऐसे रवैये पर गंभीर चर्चा की जरूरत है.

इन एंकरों के कारण हिंसक हुआ देश

इन एंकरों की घृणित करतूतों का ही असर था कि पटियाला हाउस कोर्ट परिसर में वकील हिंसक हो उठे. इस हिंसक भीड़ ने पत्रकारों को पीटा, इन्होंने कन्हैया पर जानलेवा हमला किया. हद तो तब हो गयी जब सुप्रीम कोर्ट के वकीलों की टीम इस हिंसा का जायजा लेने गयी तो उस पर हमला बोला गया. ऐसे में झूठी और फरेबी खबरों से इन टीवी चैनलों ने देश में हिंसक माहौल खड़ा कर दिया. पूरा देश उद्वेलित रहा. गांव, शहर, नुक्कड़ और गांवों में प्रदर्शन होने लगे. पटना में भी पत्रकारों पर हमला हुआ. ऐसे में  चैनलों के इन एंकर-सम्पादकों के खिलाफ निश्चित ही देशद्रोह का मामला बनता है.

देखिए फर्जी वीडियो पर एबीपी न्यूज का खुलासा ( लिंक फेसबुक लागआन करने पर खुलेगा)

लेकिन दूसरी तरफ जब जेएनयू छात्र संघ के अध्यक्ष कन्हैया पर दीपक चौरसिया ने अपने चैनल पर बुला कर जल्लाद की तरह चीख चीख कर जबरन गुनाह कुबूल करवाने की कोशिश की तो यह साफ लग रहा था जैसे स्क्रीन पर बैठा कोई तानाशाह बोल रहा हो. इस इडियट बाक्स के तानाशाह पत्रकारों ने देश को टुकड़े-टुकड़े करने, देशद्रोह फैलाने, लोगों को उकसाने और हिंसा का माहौल बनाने की घृणित करतूत की. इनकी इन करतूतों पर अगर ये पत्रकार देश से हजार बार भी माफी मांगे तो उनका गुनाह बख्शे जाने के लायक नहीं हैं.

इसी तरह जी न्यूज का एंकर सुधीर चौधरी, जिन्हें पहले ही जिंदल ग्रूप से सौ करोड़ रुपये रिश्वत मांगने का वीडियो दुनिया देख चुकी है. आईबीएन चैनल का एंकर सुमीत अवस्थी  जेएनयू के रिसर्च स्कालर उमर खालिद को अपने चैनल पर बिठा कर एक तानाशाह की तरह चीख-चीख कर उसे देशद्रोही होने की घोषणा करता रहा. सुमीत, चौरसिया और न जाने और कितने टीवी एंकरों ने इस मामले में बिना साबित हुए देशद्रोही, आतंकवादी और गद्दार जैसे फरमान जारी किये.

तो सवाल यह है कि जिन कन्हैया कुमार के खिलाफ न पुलिस को कोई सुबूत मिला और न ही टीवी पत्रकारों को, फिर भी उनके खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा हुआ. लेकिन दुनिया भर ने इन इन ऐंकरों को झूठ-मनगढ़त आरोप, फोटोसाप से बदली गयी तस्वीरों और वीडियो का सहारा ले कर देश में गृहयुद्ध जैसे हालात बना दिया. जबकि चैनल पर कन्हैया साफ कहते हुए देखे गये कि यह सारी करतूत आरएसएस के छात्र संगठन एबीवीपी की है तो इस पर दीपक चौरसिया ऐसे तिलमिलाते दिखे जैसे वह संघ के प्रचारक हों. अदालत इस मामले को देख रहा है. अभी सुनवाई शुरू भी नहीं हुई कि ये पत्रकार जज की भूमिका में आ गये.

अधिक तर चैनल हैं दोषी

वैसे शायद ही कोई चैनल हो जो इस फर्जी वीडियो को नहीं दिखाया हो. किसी ने ज्यादा हल्ला किया तो किसी ने कम. लेकिन खैर मनाइए कि इन्हीं में से कुछ ने सच्ची वीडियो दिखायी लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी.

पुलिस कमिशनर बस्सी दिखायें साक्ष्य

इसी तरह देशद्रोह के मामले में बिना किसी पर्याप्त सुबूत के दिल्ली पुलिस आयुक्त बीएस बस्सी ने सारे देश में कोहराम मचा दिया अब उनके खिलाफ भी जांच होनी चाहिए. और अगर वह गलत साबित होते हैं तो उनके खिलाफ भी देश में युद्ध जैसे हालात पैदा करने, माहौल को हिंसक बनाने और सुप्रीम कोर्ट की अवमानना करने का मामला दायर किया जाना चाहिए.

32 comments

  1. कुमार राज वेर्धन

    जी न्यूज के एंकर सुमित अवस्थी नहीं है रोहित सरदाना है — आपसे येह बी गुजारिश है की गूगल में उमा खुराना नाम की महिला को जी न्यूज़ डीएनए वाला सुधीर चौधरी केस साथ में करोरो रुँपइए घुस में मंगाते हुए पकरे गए थे उनका बी एक रिपोर्ट तैयार करे सर जी

  2. कुमार राज वेर्धन

    उमा खुराना नाम की महिला जो की एक टीचर थी उनको फर्जी स्टिंग में सुधीर चौधरी ने बदनाम किया था थोरा उस पर बी एक रिपोर्ट

  3. राजेश उपाध्याय

    बिलकुल सही विश्लेषण है आपका. इन टी वी चैनलों और एंकरों पर देश में नफ़रत फैलाने और देश की एकता के खिलाफ तुरंत मुकदमा बनता है . देखें क्या इस देश की पुलिस में इतनी देशभक्ति है ?

  4. bahut se aise news chhanal hai jo sirf farji aur galat video dikha kar apana pet bhar rahe hai ,abp news aapka bahut bahut dhanaywad aise hi in news chaanlo ka bhandfod karate rahe. selut abp news.

  5. आप ही एक याचिका ठोक दें इनके खिलाफ़

  6. मुरारी कुमार मयंक

    आपकी रिपोर्ट भी तो कुछ उनलोगो जैसी है। आप तो डायरेक्ट उनलोगो को सही बताने चले।

  7. Is Sab pe deshdaroh ka kes chal na hi chahiye qun ki ye harami hi desh drohi hain aor thulle aor netawon ke bhadwe hain in ko hi SABSE pahle fansi deni chahiye

  8. एक एफ आई आर तो जरूर होनी चाहिए।

  9. यह अब उतने देर यह नहीं तानेंगे कि कौन ग़लत थे

  10. Most of the channels owners have become the pet animals and slaves of RSS & BJP ideologies/politicies /NDA government.

  11. मुहम्मद कैस

    हमारे देश का ऐसा कानून बनता जारहा है की जो जितना बड़ा अपराधी दंगाइ नफरत फैलाने वाले फसाद कराने वाले लोंग हैं उनको उतनाही बड़ा हेफाजती सिकोर्टी दीजाती है तो क्या वह दंगा नही करायेंगे ,नफरत नहीं फैलायेंगे, जब उन अपराधियों से सिकोर्टी छीन ली जाती तब उन को भी समझमें आजाता,

  12. हमारे देश का ऐसा कानून बनता जारहा है की जो जितना बड़ा अपराधी दंगाइ नफरत फैलाने वाले फसाद कराने वाले लोंग हैं उनको उतनाही बड़ा हेफाजती सिकोर्टी दीजाती है तो क्या वह दंगा नही करायेंगे ,नफरत नहीं फैलायेंगे, जब उन अपराधियों से सिकोर्टी छीन ली जाती तब उन को भी समझमें आजाता,

  13. आपका चैनल कुछ कहता है दूसरा कुछ कहता है। कुछ चैनल अफज़ल पे चुप हो जाते है कि वो आतंकवादी है। ख़ालिद पर आप का चैनल मौन है। ये किस लैब में सिद्ध हुआ कि वो फेक वीडियोस थी और आपकी रिपोर्ट सही है। कृपया पुष्टि लिंक भी दे दिया करे।

  14. All these stupid people should learn a lesson and report only true news.No masaala from their own side .
    If still Govt./public wants to take action against these then they can go ahead so that precedent is made so that in future no body should repeat such mistakes.

  15. Abe chutia jo desh ke khiaf naare lags rahe the wo abp or aapke Jija ji the kaya??

  16. संजू बारले

    यह बात सत्य है।पर इन गद्दारो को भक्त लोगों का समर्थन प्राप्त है।

  17. Extremely sad to know all this. Culprit should be punished. But how and when?

  18. संतोष सोनी

    यह तो सत्य है की घटना वाले दिन JNU में देशद्रोही नारे तो लगे थे
    और यह भी स्थापित सत्य है की देशविरोधी नारे लगाने वाले JNU होस्टल के ही रहवासी थे ना की पकिस्तान से आये थे

    बहरहाल “आप” भी यहाँ टीवी एंकरों को नँगा करने के बहाने देशद्रोह के आरोपियों की पैरवी बन्द करिये
    कौन देशद्रोही है किसने भारत विरोधी नारे लगाये
    यह अदालतों को तय करने दीजिये

  19. मुकुल सौरभ त्रिपाठी

    कृपया यह बताये कि जे0एन0यू0 में अफजल से सम्बंधित कार्यक्रम हुआ की नहीं?अगर हुआ तो इससे बड़ा देशद्रोह क्या हो सकता है?थोडा शर्म करो यार,इतना मत गिर जाओ,नहीं तो बहुत जल्दी नष्ट हो जाओगे।

  20. Yes like Who was the people supporting ishrat Jaha ? Unkei upar bhi case chalao.Aur beshram begarat logo nei mafi tak nahi mangi …..Vote kei liye bhaduagiri bhi karengey

  21. Amarjit Singh Dhingra .february 21,2016 at 8:40 AM

    देश विरोधी नारे ,पाकिस्तान जिन्दाबाद,अफजल गुरु को शहीद कहने वालों को देशदरोही कहना ठीक है उन्हें सजा मिलनी चाहिए,परंतु बिना प्रूफ ऐक्शन लेना गलत होगा.किसी की ज़िन्दगी और फ्यूचर का सवाल होता है.जोलोग भारत का तरंगा जलाते हैं.अज़ादो दिवस को काला दिवस मनाते हैं,उन पर देशद्रोह का केस क्यों नहीं चला ? क्या वोह सर्कार के भाई ,बंधू है. ?

  22. …kam se kam issi bahane aaj Media bhi Do bhagon mein bat gaya…PRO-MODI and ANTI-MODI……ABP news…NDTV…duniya ke sabse SACCHE channel hain…aur INKE PAAS JO BHI FOOTAGE HAI WOH EKDUM ASLI HAI….YEH KAHAN SIDDH HUA HAI KI INDIA NEWS…INDIA TV…ZEE TV…AAJ TAK.. ke paas jo Footage hai woh Nakli hai……

  23. Kalam Ke Sipahi Agar So Gaye To….Ye Dhan Ke Pujari Watan Bech Denge…

  24. do not come to any con clusion may bewhat you are telling is not correct you are not expert pl save country with yuor half cooked informations

  25. Videos were not fake my dear, this report is fake to conceal the betrayal of jnu students. Tomorrow these people will prepare another report and will say Mumbai 26/11 was done by RSS, they will say pathankot was done by RSS to divert the patriotic environment of the country so the cross border activities do not face any tbreat from citizens and can be executed nicely. Shame on this report where abp, ndtv, ajtak etc when call modi a murderer then that sentence is not media trial and today when people live caught became media trial. Why some channels always protect every act against nation ant try to diverfy mail issue by saying false video. I saw Umar khalid debating on some channels on very next day of incident and admitting that yes he has paid homage to afzal that day and shouted anti national slogans. Why you protect them my dear abp ndtv aajtak and so called pseudo honest channels. U urserlf carried out media trials over countless issues which later were proven to be fake and false by courts. Channels now protecting the enemy of the country saying fake video are equally involved in the conspiracy against the nation and govt must investigate and i am sure some channels are getting huge amount from cross border enemies.

  26. ye kisne likha h
    ye to dekho padhne walo

  27. गोपाल कन्हैया

    चैनल कोई भी हो देश के गदारो के साथ नहीं होना चाहिए उन्हें|

  28. गोपाल कन्हैया

    और आज NDTV /Aajtak /ABP news यह सब खबरों में बेइमानी करते हैं |

  29. Bs bassi ne jnu me kiya vo retirement ke baad faida lene ke liye kiya tha

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*