बिहार कांग्रेस के वटवृक्ष थे एलपी शाही

कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता, स्‍वतंत्रता सेनानी और पूर्व केंद्रीय मंत्री शाही का आज सुबह निधन हो गया। वे करीब 98 वर्ष के थे। कल पटना में उनका अंतिम संस्‍कार किया जाएगा। उनके निधन पर राज्‍यपाल सत्‍यपाल मलिक, मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार, नेता प्रतिपक्ष तेजप्रताप यादव, उपमुख्‍यमंत्री सुशील मोदी आदि निधन पर गहरा शोक व्‍यक्‍त किया है।

बिहार कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता सदानंद सिंह ने पूर्व केन्द्रीय मंत्री एवं कांग्रेस नेता एल. पी. शाही के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया है। श्री सिंह ने अपने शोक सन्देश में कहा कि स्व. शाही जी स्वतंत्रता सेनानी, गांधीवादी और पार्टी के निष्ठावान एवं वरिष्ठतम नेता थे। वे बिहार कांग्रेस के वटवृक्ष थे। उन्होंने कहा कि स्व. शाही एक ऐसे समाजसेवी एवं राजनेता थे, जिनके दरवाजे गरीबों एवं जरुरतमंदों के लिए हमेशा खुले रहते थे। श्री शाही के निधन से राजनीतिक एवं सामाजिक क्षेत्र में अपूरणीय क्षति हुई है।

इस बीच श्री शाही के निधन के कारण 10 जून को बिहार प्रदेश कांग्रेस कमिटी मुख्यालय में होने वाले इफ्तार पार्टी को रद्द कर दिया गया है। श्री शाही के निधन का समाचार मिलते ही कांग्रेसजनों एवं उनके प्रशंसकों के बीच शोक की लहर व्याप्त हो गयी। प्रदेश कांग्रेस कमिटी के मुख्यालय सदाकत आश्रम में कांग्रेस पार्टी का झंडा झुका दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*