रुपयाबंदी से मचे हाहाकार से झुकी सरकार, पुराने नोट की वैद्यता दस दिन और बढ़ाई

रुपयेबंदी से मचे हाहाकार पर केंद्र सरकार के माथ पर पसीना आ गया है और अभ उसने पुराने नोटों की वैद्य़ता को दूसरी बार बढ़ाते हुए अब इसे 24 नवम्बर तक के लिए बढ़ा दिया है.
balck-money-1428310560

 

अब अस्पतालों, मेट्रो स्टेशनों, शमशान घाट, दवा की दुकानों, पेट्रोल पंपों में 24 नवंबर तक 500 और 1000 रुपये के पुराने नोट स्वीकार किए जाएंगे। पहले इन नोटों की चलन सीमा 14 नवंबर थी जो अब बढकर 24 नवंबर हो गई है।

रविवार को पीएम मोदी ने नोटबंदी के बाद आर्थिक मामलों पर समीक्षा बैठक बुलाई थी। समीक्षा बैठक के बाद आर्थिक मामलों के सचिव शक्तिकांत दास ने कहा कि सभी अस्पतालों, पेट्रोल पंपों, रेलवे स्टेशनों और हवाई अड्डों पर 500 और 1000 के पुराने नोट चलने की समय सीमा 14 नवंबर से बढ़ाकर 24 नंवबर तक कर दी गई है।

शक्तिकांत दास के मुताबिक देश के सभी टोल पर 24 नवंबर तक कोई टैक्स भी नहीं लिया जाएगा। गौरतलब है कि 8 नवम्बर को केंद्र सरकार ने हजार और पांच सौ रुपये के नोट के चलन को बंद करने का ऐलान किया था लेकिन आवश्यक सेवाओं के लिए इसे पहले 12 नवम्बर तक जारी रखने को कहा गया था. पहली बार इस में 72 घंटे की छूट दी गयी लेकिन अब इस अवधि को दस दिन और बढ़ा दिया गया है. इस बीच आज बैंक बंद होने के कारण अदला बदली का काम नहीं हो रहा है दूसरी तरफ ज्यादतर एटीएम बंद है जिसके कारण लोगों में अब भी परेशानी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*