27, 28 नवम्बर को केंद्रीय पिछड़ा वर्ग में शामिल करने की होगी सुनवाई

केंद्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग पटना में 27 और 28 नवम्बर को कुछ जातियों और उपजातियों को पिछड़ा वर्ग की सूची में शामिल करने संबंधी  आवेदनों और शिकायतों पर सुनवाई करेगा.

यह सुनवाई पटना प्रमंडलीय आयुक्त के न्यायालय कक्ष में की जायेगी. ये सुनवाई केंद्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष न्यायमूर्ति वी ईश्वरैया की अध्यक्षता में होगी. इस दौरान आयोग के सदस्य एसके खरवेंथन, एके सैनी. शकीलुज्जमा अंसारी और एके मंगोत्रा भी मौजूद रहेंगे.

सामान्य प्रशासन विभाग ने आयोग के प्रत्येक सदस्य के लिए बिहार प्रशासनिक सेवा के पांच अफसरों को सम्पर्क अधिकारी के रूप में नियुक्त किया है. इन अफसरों में खगेश चंद्र झा, कुमार अनुज, विनोदानंद, अरुणाभ चंद्र वर्मा और आनंद प्रकाश शामिल हैं.

इस सुनवाई के दौरान 24 जातियों के ऊपर सुवाई होगी. खबर हैं कि जहां एक तरफ कई जातियों ने खुद को पिछड़ा वर्ग में शामिल करने का आवेदन किया है वहीं पिछड़ा वर्ग के अनेक संगठनों ने मिल कर आयोग को शिकायती आवेदन दिया है जिनका कहना है कि कुछ जातियां पिछड़ा वर्ग में जबरन घुसने की कोशिश कर रहे हैं.

दनांक-27.11.2014 को बाथम वैश्य, बागती (बागची)/बागद, भाट (मुस्लिम), वियाहुत

कलवार, छीपी, दानवार, फकीर/दिवान/मदार (मुस्लिम), गालदार, गोरा, घासी (वेप),

मेहर, गोड़ी (छाबी), गोर्साइ , इटफरोशर्/इ टाफरोश/गदहेड़ी/इटपज/इब्राहिमी (मुस्लिम),

जदुपतिया, जोगी (जुगी) जातियों पर सुनवाई होगी. जबकि दिनांक-28.11.2014 कालक्ष्मी नारायण गोला, मडरिया (मुस्लिम),माेदक/मायरा, मोरियारी, परथा, सैंथवार, सामरी वैश्य, सुरजापुरी (मुस्लिम), सूत्रधार गोंड ़

गैड़ (ळवनक) एवं खतवे जातियों की सुनवाई की जायेगी।

इस सुनवाई के दौरान 3 जातियों को ओबीसी की सूची से खारिज करने के आवेदनों पर भी सुनवाई होगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*