531 करोड़ की लागत से बने बराज से बिहार के 42 हजार हेक्टेयर जमीन की होगी सिंचाई

2018 के अंत तक बिहार के हर घर में होगी बिजली: सीएम, कचनावां व नसरतपुर सिंचाई योजनाओं का भी किया शुभारंभ
पटना.

सीएम नीतीश ने किया उद्घाटन

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गुरुवार को जहानाबाद जिले के हुलासगंज प्रखंड क्षेत्र में उदेरा स्थान बराज और सिंचाई की दो अन्य परियोजनाओं का उद्घाटन किया. उन्होंने कहा कि उदेरा स्थान को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित किया जायेगा. मुख्यमंत्री ने बिहार में न्याय के साथ हो रहे विकास की चर्चा करते हुए कहा कि चार साल के भीतर सात निश्चयों के सभी काम को पूरा करना लक्ष्य है. हर गांव की नाली-गली पक्की हो जायेगी और 2018 के दिसंबर तक हर घर में बिजली पहुंच जायेगी. उन्होंने उपस्थित जनसमूह से दहेज वाली शादी का बहिष्कार करने का आह्वान किया और कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती दो अक्तूबर से बाल विवाह और दहेज प्रथा के खिलाफ सशक्त अभियान चलाया जायेगा. मुख्यमंत्री की इस बात का वहां उपस्थित लोगों ने ताली बजा कर समर्थन किया.
पर्यटक स्थल के रूप में विकसित होगा उदेरा स्थान: सीएम
उदेरा स्थान बराज स्थल के पास ही आयोजित सभा में उन्होंने कहा कि इसकी बगल में ही ऐतिहासिक बराबर पहाड़ है. उदेरा स्थान को भी पर्यटन स्थल के रूप में विकसित किये जाने से पूरा इलाका विकसित होगा. उदेरा स्थान बराज से जहानाबाद और नालंदा जिलों की 42 हजार हेक्टेयर भूमि सिंचित होगी. उन्होंने 531 करोड़ से बने उदेरा स्थान बराज के अलावा 7.82 करोड़ की नसरतपुर और 2.77 करोड़ की कचनावां सिंचाई परियोजना का उद्घाटन किया और 232.81 करोड़ की लागत से मंडई पुनर्गठित सिंचाई योजना के कार्य की भी शुरुआत की. उन्होंने कहा कि बिहार में 76% लोग खेती कर आजीविका चलाते हैं, इसलिए राज्य सरकार सिंचाई योजनाओं के क्रियान्वयन को गति दे रही है.

About Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*