मोदी पर लगा छेड़खानी का आरोप, हो सकती है जेल

मोदी पर लगा छेड़खानी का आरोप, हो सकती है जेल

मोदी पर लगा छेड़खानी का आरोप, हो सकती है जेल


पहली बार प्रधानमंत्री पर किसी ने छेड़खानी का आरोप लगाया है। न सिर्फ आरोप लगाया है, बल्कि पुलिस में शिकायत भी की है।

प. बंगाल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को दीदी-ओ-दीदी जिस तरह से कहा, उसकी देशभर में खासकर प. बंगाल में अबतक आलोचना हो रही है। अब पहली बार प्रधानमंत्री के खिलाफ ईव-टीजिंग (छेड़खानी) की शिकायत की गई है। वह भी पुलिस थाने में। कोलकाता से प्रकाशित द टिलिग्राफ ने इस खबर को पहले पन्ने पर प्रकाशित किया है।

आंबेडकर जयंती से पहले दलित को थूक चाटने पर किया मजबूर


द टेलिग्राफ के अनुसार बांग्ला सिटिजंस फोरम ने पत्र की शक्ल में पुलिस से शिकायत की है। शिकायत में कहा गया है कि प्रधानमंत्री लगातार ममता बनर्जी के लिए दीदी-ओ-दीदी जिस तरह से कह रहे हैं, वह एक महिला का अपमान है। अमहर्स्ट स्ट्रीट पुलिस थाने को मिली शिकायत चर्चा का विषय बन गई है। थाने ने इस शिकायत को चुनाव आयोग के पास फारवर्ड कर दिया है।


अखबार लिखता है कि शिकायत में कहा गया है कि जिस प्रकार शब्दों को खींच कर दीदी-ओ-दीदी प्रधानमंत्री द्वारा कहा जा रहा है, वह प्रदेश में महिलाओं से छेड़खानी की घटनाओं में वृद्धि करेगा। इसी तरह की शिकायत तृणमूल कांग्रेस ने भी चुनाव आयोग से की है, लेकिन पहली बार ऐसी शिकायत थाने में की गई है। सिटिजंस फोरम ने अपने पत्र में लिखा है कि ईव टीजिंग आईपीसी की धारा 294 के तहत अपराध है।


धारा 294 के अनुसार कोई व्यक्ति सार्वजनिक स्थल पर अशोभनीय (अश्लील) शब्दों या गीतों का उपयोग करता है, तो उसे तीन महीने की जेल जुर्माना अथवा दोनों हो सकता है।


प. बंगाल में प्रधानमंत्री द्वारा शब्दों को खींच कर दीदी-ओ-दीदी कहने को तृणमूल ने मुद्दा बना दिया है। तृणमूल की महिला नेताओं ने कहा कि किसी भी महिला को इस तरह संबोधित करने से वह असहज महसूस करेगी। ऐसा कहना ममता बनर्जी का ही नहीं, महिलाओं का अपमान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*