शराब के नशे में उत्पात मचाते गिरफ्तार हुए दरभंगा के युवा राजद अध्यक्ष

शराब के नशे में उत्पात मचाते गिरफ्तार हुए दरभंगा के युवा राजद अध्यक्ष

इस वाकये से पुलिस महकमे में हड़कंप मचा हुआ है. पुलिस को यह सूचना मिली थी कि यह दारू पीकर हंगामा कर रहा है. जिसके बाद पुलिस ने इसे गिरफ्तार कर लिया है।

दरभंगा से दीपक कुमार ठाकुर

बिहार में शराबबंदी नियम लागू है. लोगों ने इसका मजाक उड़ाकर रख दिया है. कभी नेता जाम छलकाते नज़र आ जाते हैं, तो कभी पुलिस. आखिर यह शराब आती कहां से है. सवाल तो कई हैं.

बिहार सरकार को लताड़: हाईकोर्ट ने कहा शराबबंदी कानून पर डीजीपी को भी निलंबित करें

फिलहाल जो मामला सामने आया है वह बिहार के दरभंगा जिले से है. जहां पुलिस ने इस बार आरजेडी ( RJD) के नेता को शराब के नशे में गिरफ्तार किया है. जी हां, मिली जानकारी के मुताबिक दरभंगा के युवा राजद के जिलाध्यक्ष को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस का कहना है कि युवा राजद के अध्यक्ष को शराब के नशे में गिरफ्तार किया गाया है. पुलिस अधिकारी ने यह भी बताया है कि उनकी मेडिकल जांच करायी जायेगी और उसके बाद आगे की कार्रवाई की जायेगी

पटना हाईकोर्ट ने राज्य की अदालतों में शराबबंदी से जुड़े मामलों के लगातार बढ़ते बोझ पर चिंता जाहिर करते हुए सख्ती दिखाई है और कहा है कि बहुत समय दे दिया। मुकदमों का अनावश्यक बोझ कोर्ट अब बर्दाश्त नहीं करेगा।

राजद नेता को पुलिस ने नशे की हालत में गिरफ्तार किया है. बताया जाता है कि पुलिस ने आरजेडी नेता को शराब के नशे में मब्बी के शिवधारा से गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार मो. कलाम युवा राजद का जिलाध्यक्ष होने के साथ ही साथ इलाके का मुखिया भी है.

बिहार में हाहाकार शराबबंदी का उल्लंघन करने वाले चार सौ पुलिसकर्मी नौकरी से बेदखल

इस वाकये से पुलिस महकमे में हड़कंप मचा हुआ है. पुलिस को यह सूचना मिली थी कि यह दारू पीकर हंगामा कर रहा है. जिसके बाद पुलिस ने इसे गिरफ्तार कर लिया है।

काबिले जिक्र है कि बिहार सरकार ने राज्य में शराब पीने, रखने और इसके कारोबार पर पूर्णरूप से प्रतिबंधित कर दिया है. इससे जुड़े नियमों के उल्लंघन पर सजा का प्रावधान किया गया है.

शराबबंदी पर अध्ययन के खुलासे से फंसी सरकार: दलित, पिछड़े सबसे अधिक डाले गये जेल में

हाल ही में पटना हाईकोर्ट ने राज्य के मुख्य सचिव से पूछा है कि राज्य में शराब से जुड़े मामलों में तीन लाख से ज्यादा केसेज पेंडिंग हैं. इनमें से ज्यादातर मामले में लोगों को जानबूझ कर फंसाने के मामले भी हैं इसलिए सरकार बताये कि ऐसे मामले के निपटारे में वह क्या कदम उठा रही है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*