फिर घिरे वरिष्ठ नौकरशाह केके पाठक, कनपट्टी पर पिस्टल भिड़ाने व लाठी से पिटने का FIR दर्ज

फिर घिरे वरिष्ठ नौकरशाह केके पाठक, कनपट्टी पर पिस्टल भिड़ाने व लाठी से पिटने का FIR दर्ज

अकसर अपने व्यवहार को ले कर विवादों में बने रहने वाले लघु सिंचाई विभाग के प्रधान सचिव और वरिष्ठ आइएएस अधिकारी केके पाठक के खिलाफ एक व्यक्ति ने लाठी से पीटने और कनपट्टी पर पिस्टल भिड़ा कर धमकाने का आरोप लगाते हुए FIR दर्द कराई है.

 

 

सोनपुर निवासी व मां शकुंतला इंफ्रास्ट्रक्चर प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक कुमुद राज सिंह ने केके पाठक पर आरोप लगाया है कि उन्होंने अपने दफ्तर में बुला कर लाठी से पिटाई की और कनपटी पर अंगरक्षक की रिवॉल्वर भिड़ा कर जान से मारने की धमकी दी.

यह FIR  पटना के सचिवालय थाना में दर्ज की गयी है.

कुमुद ने सचिवालय थाने में 23 जुलाई को ही प्राथमिकी दर्ज कराने के लिए लिखित शिकायत दी थी। एसएसपी गरिमा मलिक ने शुक्रवार को बताया कि प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। मामले की छानबीन की जा रही है।

कुमुद के मुताबिक, ठेकेदार नालंदा डिविजन में लघु सिंचाई विभाग के द्वारा आहर पईन कार्य के साथ ह्यूमन पाइप पुलिया बनाने का ठेका मिला था। विभाग से कार्य के भुगतान की राशि मांगी गई थी। भारी बारिश के कारण किए गए कार्य का कुछ भाग क्षतिग्रस्त हो गया। उन्होंने विभाग को क्षतिग्रस्त हिस्से का पुन: निर्माण कराने के लिए पत्र भेजा था।

22 जुलाई की दोपहर कार्यपालक अभियंता ने मंगलवार को कॉल कर प्रधान सचिव के चैंबर में मिलने को बुलाया था. इ दौरान क्षतिग्रस्त हिस्से की मरम्मती की बात हुई. बातचीत के दौरान ही पाठक ने उनकी लाठी से पिटाई की और कनपट्टी पर पिस्टल भिड़ा कर जान से मारने की धमकी दी.

केके पाठक का विवादों से नाता

गौरतलब है कि आईएएस अफसर केके पाठक अकसर विवादों में घिरे रहते हैं. कुछ वर्ष पहले उनके दफ्तर के एक कर्मी ने भी मारपीट करने का आरोप लगाया था. इसी तरह पिछले वर्ष एसबआई के कुछ प्रबधकों पर केके पाठक के आदेश के बाद प्राथमिकी दर्ज की गयी थी. इस मामले में पटनाई हाईकोर्ट ने केके पाठक को दोषी ठहराते हुए एक लाख पचहत्तर हजार का हर्जाना लगाया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*