कृषि कानूनों के खिलाफ प्रस्ताव पारित करे बिहार विस : अखिलेंद्र

कृषि कानूनों के खिलाफ प्रस्ताव पारित करे बिहार विस : अखिलेंद्र

स्वराज अभियान के राष्ट्रीय नेता अखिलेंद्र प्रताप सिंह पटना पहुंचे। तीन कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन तेज करने के लिए चुनिंदा कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की।

कुमार अनिल

स्वराज अभियान के राष्ट्रीय नेता अखिलेंद्र प्रताप सिंह ने आज पटना में विभिन्न जिलों से आए प्रमुख कार्यकर्ताओं और किसान आंदोलन समर्थक बुद्धिजीवियों के साथ पांच घंटे तक विचार-विमर्श किया। इस दौरान उन्होंने कहा- तीन कृषि कानूनों के खिलाफ बिहार विधानसभा प्रस्ताव पारित करे।

अखिलेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि बिहार के किसानों को उनकी फसल, हरी सब्जी का उचित मूल्य नहीं मिलता। बिहार सरकार ने पहले ही मंडियों को समाप्त कर दिया है। मंडियां नहीं रहने से बिहार के किसानों को उचित मूल्य नहीं मिलता। उन्होंने कहा कि वे चाहते हैं कि बिहार में छोटे-बड़े सभी किसान संगठन एक मंच पर आएं।

किसानों का नया नारा- बॉयकॉट बीजेपी, बंगाल-बिहार भी आएंगे

उन्होंने कहा कि देश के किसान सीधे कॉरपोरेट को चुनौती दे रहे हैं। यह आंदोलन देश में चल रहे विभिन्न तरह के आंदोलनों का साझा मंच बन गया है और इस आंदोलन में देश की राजनीति बदल देने की शक्ति है।

मंत्री का हमशक्ल महीनों से चला रहा विभाग, बेखबर CM दें इस्तीफा

ऑल इंडिया पीपुल्स फ्रंट के बिहार प्रवक्ता पूर्व विधायक रमेश कुशवाहा ने अपने बिहार दौरे का अनुभव बताया। कहा, तीन कृषि कानून को रद्द करने तथा बिहार के किसानों को भी एमएसपी मिले, इस सवाल पर हर जाति-हर धर्म के किसान एकमत हैं। बताया कि 18 अप्रैल को बिहार के विभिन्न जिलों के कार्यकर्ताओं का समागम होगा, जिसमें आंदोलन की रूपरेखा तय की जाएगी।

बैठक में किसान नेता अशोक वर्मा, पालीगंज, अशोक कुमार, परमानंद , जेपी सेनानी, डॉ. पीएनपी पाल, भीष्म सिंह कुशवाहा, सीवान, राम पुकार सिन्हा, पूर्वी चंपारण और यशवंत चौहान शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*